FEATUREDभ्रष्टाचारसोनभद्र

एक मिलियन टन कोयला सीज, कोल ट्रांसपोर्टरों में हड़कंप।

एक मिलियन टन कोयला सीज, कोल ट्रांसपोर्टरों में हड़कंप। सोनभद्र जिला अधिकारी चंद्र विजय सिंह द्वारा कोयले में चारकोल के मिलावट की खबर छपने के बाद गठित जांच समिति के सदस्यों द्वारा कृष्णशिला रेलवे साइडिंग व ग्राम बांसी में भंडारित कोयले के स्वामित्व की जानकारी ना मिलने पर 32 बीघा भूखंड में भंडारित लगभग एक मिलियन टन कोयले को सीज कर दिया गया।

एक मिलियन टन कोयले को सीज करते हुए शक्तिनगर थाना प्रभारी को सुपुर्द कर दिया गया। बगैर शक्तिनगर थाना प्रभारी के अनुमति के भंडारित कोयले का विक्रय, उठान व परिवहन तथा पुनः भंडारण नहीं होगा। एक सप्ताह के अंदर यदि उक्त कोयले पर जिला प्रदूषण समिति के समक्ष कोई दावा प्रस्तुत नहीं करता है तो जिला प्रशासन द्वारा सीज किए हुए कोयले की नीलामी की कार्रवाई कराई जाएगी।

एक मिलियन टन कोयला सीज, कोल ट्रांसपोर्टरों में हड़कंप।
अपर जिलाधिकारी मामले की जानकारी लेते हुए। ‌ फोटो : महामना न्यूज़।

कृष्णशिला रेलवे साइडिंग पर सोनभद्र जिला अधिकारी द्वारा गठित कमेटी जब जांच करने पहुंची तो लेखपाल दिनेश तिवारी ने बताया कि उक्त भूमि, खतौनी में नार्दन कोलफील्ड लिमिटेड के नाम दर्ज है। जांच स्थल पर उपस्थित एनसीएल ककरी परियोजना के महाप्रबंधक द्वारा टीम को अवगत कराया गया कि उक्त भंडारित कोयले से उनका कोई संबंध नहीं है और कोयला किसका है, जिस प्रयोजन से भंडारित है ? इससे अनभिज्ञता जताई। जिसके बाद टीम ने 32 बीघा में फैले लगभग एक मिलीयन टन भंडारित कोयले को सीज कर दिया।

चारकोल का बड़े पैमाने पर खेल, सारे अधिकारी फेल-

शक्तिनगर थाना अंतर्गत बीना चौकी क्षेत्र में स्थित एनसीएल कृष्णशिला रेलवे साइडिंग पर डीह बाबा समीप बड़े पैमाने पर चारकोल का खेल चल रहा था। जिसकी समाचार छपने के बाद मौके पर पहुँचे बीना चौकी प्रभारी अश्वनी राय द्वारा दो पोकलेन व आठ लोगो को पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया गया था। मामले की जानकारी जिले के प्रदूषण विभाग समेत खान विभाग, वन विभाग, लेखपाल व एडीएम सोनभद्र को मिली। जिसके बाद मौके पर पहुँचे तमाम अधिकारी जाँच में जुट गए और बड़ी मात्रा में चारकोल की खेप मिलने की जांच करने आई टीम ने लगभग एक मिलियन टन कोयला सीज किया।

रेलवे साइडिंग से गिरफ्तार दो पोकलेन व आठों युवक रात को रिहा-

कृष्णशिला रेलवे साइडिंग पर कोयले में चारकोल के मिलावट की खबर छपने के बाद जांच करने आई टीम ने भंडारित लगभग एक मिलियन टन कोयले को सीज किया। परंतु पूरे कार्रवाई में मौके से गिरफ्तार दो पोकलेन व आठों युवकों को रात तकरीबन 12:00 बजे तक बिना किसी कार्रवाई के रिहा कर दिया गया। पुलिस प्रशासन द्वारा चले हाई वोल्टेज एक्शन के बाद बिना कार्रवाई के सिर्फ कोयला सीज की बात पर अटकलों का बाजार गर्म है। चट्टी चौराहों पर चर्चा आम है कि एक बार फिर से ऊर्जांचल में अवैध कोयले कारोबार से जुड़े सिंडिकेट की सक्रियता बढ़ गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button