FEATURED

Biggest Supermoon : आज रात धरती के नजदीक होगा चांद, रात 12:00 बजे होगा सुपरमून का दीदार, जाने घटना के बारे में…

Biggest Supermoon: Tonight the moon will be near the earth, supermoon will be visible at 12:00 pm, know about the incident...

Biggest Supermoon : आज रात धरती के नजदीक होगा चांद, रात 12:00 बजे होगा सुपरमून का दीदार, जाने घटना के बारे में… Biggest Supermoon : सबसे बड़े और चमकदार चांद सुपरमून को 13 जुलाई आज बुधवार को रात्रि 12:07 बजे देखा जा सकता है। आज के बाद फिर से सुपरमून का दीदार जुलाई 2023 में होगा।

Biggest Supermoon : आज रात धरती के नजदीक होगा चांद, रात 12:00 बजे होगा सुपरमून का दीदार, जाने घटना के बारे में...
Photo : Google

माना जाता है कि जब चंद्रमा (Moon) अपनी कक्ष में धरती (Earth) के सबसे करीब होता है तब सुपरमून दिखाई देता है। आज गुरु पूर्णिमा के दिन सुपरमून का दीदार होगा। हर दिन की तुलना में चांद सबसे बड़ा चमकीला और गुलाबी नजर आएगा। Biggest Supermoon

13 जुलाई को धरती और चंद्रमा के बीच की दूरी सबसे कम होगी। सुपरमून के दौरान धरती से चंद्रमा की दूरी 357.264 किलोमीटर होगी। सुपरमून का असर समुद्र पर भी होगा, जिसके कारण समुद्र में उच्च और कम ज्वार की बड़ी श्रृंखला दिखाई देगी। Biggest Supermoon

Biggest Supermoon : आज रात धरती के नजदीक होगा चांद, रात 12:00 बजे होगा सुपरमून का दीदार, जाने घटना के बारे में...
Photo : Google

माना जा रहा है कि 13 जुलाई बुधवार को चंद्रमा और पृथ्वी के बीच की दूरी सबसे कम होगी। इस दिन चंद्रमा का आकार बेहद बड़ा, चमकीला और गुलाबी रंग का दिखाई देगा। यदि मौसम अनुकूल रहा तो चंद्रमा का दीदार आसानी से होगा। बुधवार की पूर्णिमा को “बक मून” (Buck Moon) नाम दिया गया है। ऐसा साल के उस समय के संदर्भ में किया गया है, जब हिरण के नए सिंग उगते हैं। Biggest Supermoon

विगत 14 जून को दिखे सुपरमून को “स्ट्रॉबेरी मून” (Straberry Moon) नाम दिया गया था, क्योंकि तब पूर्णिमा स्ट्रॉबेरी की फसल के समय पड़ी थी। इस बार सुपरमून का दीदार 13 जुलाई बुधवार की रात 12:07 पर होगा। इसके बाद या अगले वर्ष 3 जुलाई 2023 को दिखाई देगा। Biggest Supermoon

सुपरमून की घटना के कारण समुद्री इलाकों में भी असर दिखाई देगा। इस दौरान समुद्र में उच्च और कम ज्वार की बड़ी श्रृंखला देखने को मिलेगी। खगोलविदों के अनुसार तटीय इलाकों में तूफान आ सकता है और बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। सुपरमून की घटना के कुछ घंटे बाद फुलमून (Full moon) नजर आएगा, जिसे 2 से 3 दिन तक देखा जा सकता है। चांद के आकार के कारण फुलमून जैसा नजर आएगा। Biggest Supermoon

सुपरमून शब्द की शुरुआत-
सुपरमून शब्द की शुरुआत सबसे पहले वर्ष 1979 में हुई। ज्योतिष विशेषज्ञ रिचर्ड शोले ने इस शब्द को चलन में लाया था। ‌ जब चंद्रमा धरती का निकटतम 90 फ़ीसदी के दायरे में समीप आ जाता है तो खगोलीय घटना को सुपरमून कहा जाता है। सुपरमून को “बक मून” के नाम से भी जाना जाता है। दुनिया के विभिन्न देशों में सुपरमून को अलग-अलग नामों से जाना जाता है। Biggest Supermoon 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button