FEATUREDधर्म/संस्कृति

Jagannath Rath Yatra : जगन्नाथपुरी विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा में उमड़ा भक्तों का सैलाब, मौसी के घर पहुंचे जगन्नाथ।

Jagannath Rath Yatra: Devotees gathered in Jagannathpuri world famous Rath Yatra, Jagannath reached aunt's house.

Jagannath Rath Yatra : जगन्नाथपुरी विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा में उमड़ा भक्तों का सैलाब, मौसी के घर पहुंचे जगन्नाथ। Jagannath Rath Yatra : जगन्नाथ पुरी विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा में भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। देश विदेश से आए लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं का समागम हुआ। कोरोना महामारी के कारण विगत 2 वर्षों तक रथ यात्रा का आयोजन नहीं हो सका था। इस बार प्रशासन के अनुमान के विपरीत भक्तों का भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा में जमावड़ा देखने को मिला।

शुक्रवार को जगन्नाथ पुरी धाम में चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के लिए भगवान जगन्नाथ की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा निकाली गई। भक्तों का ऐसा सैलाब उमड़ा की रथ यात्रा को देखकर हर कोई जय जगन्नाथ जय जगन्नाथ के जयकारे लगाने लगे। Jagannath Rath Yatra

Jagannath Rath Yatra : जगन्नाथपुरी विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा में उमड़ा भक्तों का सैलाब, मौसी के घर पहुंचे जगन्नाथ।
Photo by Google

विश्व प्रसिद्ध जगन्नाथ रथ यात्रा को देखने के लिए उड़ीसा प्रदेश के राज्यपाल प्रोफेसर गणेशी लाल, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, केंद्रीय कैबिनेट मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय मंत्री विशेश्वर टुडू, उड़ीसा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एस. मुरलीधरन, उड़ीसा प्रदेश के कई मंत्री, मुख्य सचिव सुरेश महापात्र, पुलिस डीजी सुनील बंसल, मुख्य प्रशासक वीर विक्रम यादव के साथ कई विशिष्ट व्यक्ति जगन्नाथपुरी पहुंचे और रथ पर सवार भगवान जगन्नाथ का दर्शन किए। Jagannath Rath Yatra

प्राप्त जानकारी अनुसार तड़के सुबह 3:00 बजे मंगला आरती करने के बाद मइलम, तड़पालागी, रसोई होम, अवकाश पूजा, सूर्य पूजा, द्वारपाल पूजा, वेश, गोपाल बल्लभ एवं सकाल धूप रीति रिवाज संपन्न की गई। तदुपरांत 5:30 बजे रथ प्रतिष्ठा की गई। 6:15 पर मंगला अर्पण एवं चतुर्दशी ग्रहों की पहंडी बिजे शुरू हुई। तदुपरांत भगवान जगन्नाथ सहित भाई बहन को रथ पर विराजमान किया। Jagannath Rath Yatra

Jagannath Rath Yatra : जगन्नाथपुरी विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा में उमड़ा भक्तों का सैलाब, मौसी के घर पहुंचे जगन्नाथ।
Photo by Google

रथ पर विराजमान भगवान जगन्नाथ एवं उनके भाई बहन की पूजा जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी महाराज द्वारा किया गया। इसके बाद गजपति महाराज दिव्या सिंह देव रथ पर पहुंचे और राजकीय वंदना के साथ तीन रथों पर छेरा पहरा किया गया। सभी तैयारियां पूरी करने के बाद 12:30 पर प्रभु बलभद्र जी के तालध्वज रथ को खींचने की प्रक्रिया शुरू हुई। तत्पश्चात 1:20 पर देवी सुभद्रा के दर्पदलन रथ को और जगन्नाथ जी के नंदीघोष रथ को 2:25 पर खींचने का कार्यक्रम शुरू किया गया। Jagannath Rath Yatra

जमीन से लेकर हवा तक त्रिस्तरीय सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था के बीच विश्व प्रसिद्ध जगन्नाथ पुरी रथ यात्रा का आयोजन हुआ। सीसीटीवी कैमरे से पूरे रथ यात्रा के दौरान हर एक गतिविधि पर नजर बनाई गई। रथ यात्रा के लिए शहर में 180 प्लाटून पुलिस बल तैनात किया गया। जिसमें 250 इंस्पेक्टर, 10 आईजी स्तर के अधिकारी, 200 एसपी स्तर के अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था पर नजर बनाए रहे। ‌ कुल मिलाकर लगभग 10,000 से ज्यादा की संख्या में पुलिस एवं कर्मचारी व अधिकारी वर्ग रथ यात्रा की सुरक्षा में तैनात रहे। Jagannath Rath Yatra 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button