FEATUREDसिंगरौली

सिंगरौली जिले के कुएं उगल रहे लाश, रैला सरपंच प्रत्याशी पैसे के दम पर कर रहा प्रशासन को खरीदने की बात।

सिंगरौली जिले के कुएं उगल रहे लाश, रैला सरपंच प्रत्याशी पैसे के दम पर कर रहा प्रशासन को खरीदने की बात। मंगलवार को घर से सज धज कर बारात के लिए कोयलखुथ गए‌ 20 वर्षीय युवक मिथिलेश कुमार नाई पुत्र बालाजी नाई निवासी रैला की कुआं से शव मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी का माहौल है। मृतक के परिजनों को घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हुआ और परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुए जिले के आला पुलिस अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई।

मौके पर पहुंचे सिंगरौली जिले के मोरवा की एसडीओपी राजीव पाठक ने उचित जांच का भरोसा देकर परिजनों के आक्रोश को शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए वैढ़न चिकित्सालय भिजवाया। आपको बताते चलें कि शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाते समय गुस्साए परिजनों ने परसौना माड़ा मुख्य मार्ग को जाम कर पूरे प्रकरण को उचित जांच कर न्याय दिलाने की मांग किया।

SINGRAULI NEWS : बारात गए युवक की कुएं में शव मिलने से हड़कंप।
फोटो : महामना न्यूज़। घटना स्थल पर उपस्थित ग्रामीणों की भीड़।

जाने क्या है मामला-
मृतक के परिजनों की माने तो मंगलवार की देर शाम बारात जाने के लिए गांव के चार युवक संजय शाह पुत्र रामदास शाह, अंजय शाह पुत्र सवाई लाल, बाबूजी पुत्र पवन शाह, संजय शाह पुत्र सवाई लाल ने मृतक मिथलेश को बार-बार मना करने के बाद भी दूल्हा संजय शाह पुत्र कमला प्रसाद साह के फेशियल कराने के लिए जबरदस्ती लेकर गए। मृतक मिथलेश घर से अपनी बाइक लेकर चारों युवकों के साथ बारात के लिए निकला। लेकिन अगले दिन बुधवार को बारात के गांव लौटने से पूर्व रैला निवासी विनोद शाह और दिनेश शाह द्वारा मृतक मिथिलेश के मोबाइल और मोटरसाइकिल को उनके परिवारी जन को सौंपा गया। विनोद और दिनेश ने घरवालों को बताया कि मृतक मिथलेश शराब के नशे में बारात में रात से गायब है।

परिजनों ने गुमशुदगी की शिकायत थाने में दर्ज कराई-
बरात घर वापस आ जाने के बाद अपने बच्चे को घर वापस न पाकर माता-पिता और परिवारी जन मिथिलेश की तलाश शुरू किए और कोयलखुथ जहां बरात गई थी भरत लाल साह के घर भी पूछताछ किया। लेकिन मिथलेश का कुछ भी अता पता नहीं लग सका। जिस पर हताश परेशान परिजनों ने माड़ा थाने में लिखित तहरीर दी। लिखित तहरीर के बाद माड़ा थाना प्रभारी ने परिवारजनों को उचित कार्रवाई का भरोसा देकर लौटा दिया।

सिंगरौली जिले के कुएं उगल रहे लाश, रैला सरपंच प्रत्याशी पैसे के दम पर कर रहा प्रशासन को खरीदने की बात।
मृतक मिथिलेश के घर पर ग्रामीणों की भीड़। फोटो : महामना न्यूज़।

गुरुवार सुबह कोयलखुथ कुएं में मिला मिथिलेश का शव-
गुरुवार सुबह रजमिलान मुख्य बाजार से लगभग 3 किलोमीटर दूर कोयलखुथ बाजार समीप कुएं में गुमशुदा मिथलेश नाई का शव मिलने की सूचना से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। बहेरीकलां निवासी सुनील कुमार नाई इलाज के लिए जाते समय कुए पर भीड़ देखकर रुके तो पहली नजर में ही कुएं में पड़े शव के ड्रेस को देखते ही आशंका जताई की मिथिलेश कुमार नाई का शव है। फोन पर मिथलेश के घर वालों को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी गई। जिसके बाद मौके पर पहुंचे मिथिलेश के परिजनों के बीच चीख-पुकार मच गई। रैला के ग्रामीणों के बीच पूरी घटना से मातम पसर गया। वहीं दबी जुबान में ग्रामीणों को कहते सुना गया कि बारात में जयमाल स्टेज पर चढ़ने की बात को लेकर मृतक मिथिलेश से चार लोगों की कहासुनी हुई थी। उसी समय लोगों ने मिथिलेश कुमार नाई को आखरी समय देखा था। फिर गुरुवार को कुएं में मिथिलेश का शव मिला।

SINGRAULI NEWS : बारात गए युवक की कुएं में शव मिलने से हड़कंप।

 

पुलिस की कार्रवाई-
कुएं से शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद माड़ा थाना पुलिस ने मृतक के परिजनों के दिए तहरीर अनुसार संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया। वहीं एक संदिग्ध फरार बताया जा रहा है।

रैला सरपंच प्रत्याशी ने पैसे के दम पर प्रशासन को खरीदने की कही बात ? –  बुधवार को मृतक मिथिलेश के परिजन जब गुमशुदगी की तहरीर लेकर माड़ा थाना पहुंचे थे तो संदिग्धों की तरफ से पैरवी करने आए सरपंच प्रत्याशी राजेंद प्रसाद ने मृतक के परिजनों को कहा कि मेरे पास बहुत पैसा है, मैं इनका बाल भी बांका नहीं होने दूंगा। जरूरत पड़ेगी तो प्रशासन को खरीद लूंगा, लेकिन अपने समाज के लोगों को जेल नहीं जाने दूंगा ? उक्त बातें मीडिया से बात करते हुए मृतक मिथिलेश के चचेरे भाई शिव कुमार नाई ने बताई।

डर के साए में मृतक के परिजन-‌  मृतक की मां दुखनी नाई और बहन कुंजमती नाई ने रोते बिलखते बताया कि मिथिलेश की हत्या कर कुएं में फेंकने का षड्यंत्र रचा गया है। रैला गांव में नाई समाज अल्पसंख्यक रूप में है और साहू समाज के लड़कों का नाम पूरे प्रकरण में आने के बाद आशंका जता रहे हैं कि उनके ऊपर भी कभी भी हमला हो सकता है। बेटे को खोने के बाद अपने ऊपर जानलेवा हमले की आशंका से मिथिलेश का पूरा घर परिवार डर के साए में जी रहा है।

पूरे घटनाक्रम में रैला के समाजसेवी पूर्व कोटेदार राजकेश शाह ने हर कदम पर मृतक के परिजनों के साथ खड़े रहे और परिवार को ढांढस बंधाते हुए सिंगरौली पुलिस से उचित जांच कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने की मांग की।

गुमशुदगी की शिकायत पर मुस्तैदी दिखाते तो बच जाती मासूम की जान- मृतक के परिजनों ने बताया कि यदि माड़ा पुलिस बुधवार को गुमशुदगी की शिकायत पर मुस्तैदी दिखाती तो उनके घर का चिराग बुझने से बच सकता था। लेकिन तहरीर मिलने के बाद पुलिस की सुस्त चाल के कारण गुरुवार सुबह युवक का शव कुएं में मिला। आखिर कब तक पुलिस गुमशुदगी की शिकायतों पर टालमटोल की स्थिति अपनाती रहेगी। अब देखना है कि पूरे प्रकरण में गंभीरता से जांच कर मृतक के साथ न्याय होगा या लीपापोती कर घटनाक्रम को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाएगा ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button