FEATUREDभारत

आज के मुसलमानों के पूर्वज भी हिंदू थे : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत। The ancestors of today’s Muslims were also Hindus: RSS chief Mohan Bhagwat.

आज के मुसलमानों के पूर्वज भी हिंदू थे : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत। The ancestors of today’s Muslims were also Hindus: RSS chief Mohan Bhagwat. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर में संघ के एक आयोजित कार्यक्रम में वर्तमान हालात को लेकर संघ का नजरिया सामने रखा है। श्री भागवत ने कहा विश्वविजेता बनने की हमारी कोई आकांक्षा नहीं है। हमें किसी को जीतना नहीं है। हमें सब को जोड़ना है। हमारा प्रयास सभी को जोड़कर अखंड भारत का निर्माण करना है।

Mohan Bhagwat Speech : नागपुर में आयोजित संघ के कार्यक्रम में देश के मौजूदा हालात पर बोलते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने ज्ञानवापी मामले पर भी अपना नजरिया सबके सामने रखा है। ज्ञानवापी मामले (Gyanvapi Case) का जिक्र करते हुए श्री भागवत ने कहा कि देश में सभी के पूर्वज समान ही थे। रूस यूक्रेन युद्ध का हवाला देते हुए कहा कि हमारी आकांक्षा विश्वविजेता बनने की नहीं बल्कि लोगों को जोड़ने की है। वर्तमान वैश्विक परिदृश्य को देखते हुए श्री भागवत ने भारत को अपनी ताकत बढ़ाने की ओर भी इशारा किया।

आज के मुसलमानों के पूर्वज भी हिंदू थे : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत। The ancestors of today's Muslims were also Hindus: RSS chief Mohan Bhagwat.
आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत – फोटो : ANI

Mohan Bhagwat Speech on Gyanvapi Case : आज के मुसलमानों के पूर्वज भी हिंदू थे। ज्ञानवापी मामले को लेकर जारी हिंदू मुस्लिम विवाद पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि मामला कोर्ट में जारी है। हम इतिहास नहीं बदल सकते। ज्ञानवापी को ना आज के हिंदुओं ने और ना ही आज के मुसलमानों ने बनाया। इसका निर्माण उस समय हुआ था। इस्लाम हमलावरों के जरिए बाहर से आया था। इस्लाम हमलावरों ने भारत की आजादी के समर्थकों का मनोबल गिराने के लिए देवस्थान व मंदिरों को तोड़ा। आज उन्हीं जगहों के मुद्दे सामने आ रहे हैं जो हिंदू समाज की आस्था व भक्ति से जुड़ा हुआ है। हिंदू मुसलमानों के खिलाफ नहीं सोचते। आज के मुसलमानों के पूर्वज भी हिंदू थे। यह उन्हें हमेशा के लिए आजादी से वंचित करने और उनके मनोबल को गिराने के लिए किया गया था। इसलिए हिंदू समाज के लोगों को लगता है कि धार्मिक स्थलों को बहाल किया जाना चाहिए।

हर मस्जिद में शिवलिंग की तलाश क्यों ?
आपसी सहमति से हिंदू मुस्लिम निकालें रास्ता- राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि हिंदू मुस्लिम समाज के लोगों को आपस में बैठकर निष्कर्ष का रास्ता खोजना चाहिए। एक रास्ता हमेशा बाहर नहीं आता है। यदि लोक अदालत का दरवाजा खटखटा ते हैं और अगर ऐसा किया जाता है तो अदालत जो भी निर्णय करें उसे स्वीकार करना चाहिए। हम सभी को अपनी न्यायिक प्रणाली को सर्वोच्च मानते हुए उनके निर्णयों का पालन करना चाहिए। ‌ हमें उनके फैसलों पर सवाल नहीं उठाना चाहिए। हमें रोजाना एक नया मामला नहीं लाना चाहिए। हमें विवाद को क्यों बढ़ाना चाहिए ? ज्ञानवापी के प्रति हमारी भक्ति है और उसी के अनुसार कुछ करना ठीक है। लेकिन हर मस्जिद में शिवलिंग की तलाश क्यों ?

Mohan Bhagwat Speech on Russia Ukraine War : रूस यूक्रेन के बीच जारी संघर्ष का जिक्र करते हुए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हम देख रहे हैं कि रूस ने यूक्रेन पर हमला किया है। इसका विरोध किया जा रहा है लेकिन कोई भी स्क्रीन जाने और उसको रोकने के लिए तैयार नहीं है क्योंकि रूस के पास शक्ति है और यह डराता है। रूस यूक्रेन युद्ध का जो विरोध कर रहे हैं उनका भी कोई नेक इरादा नहीं है। वह यूक्रेन को हथियारों की सप्लाई कर रहे हैं, यह ऐसा है जब पश्चिमी देश भारत और पाकिस्तान को एक दूसरे के खिलाफ लड़ा कर अपने गोला बारूद का परीक्षण करते थे। रूस यूक्रेन युद्ध के बीच भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है। भारत सच बोल रहा है लेकिन उसे संतुलित नजरिया अपनाना होगा। सौभाग्य की बात है कि भारत ने ना तो हमले का समर्थन किया और ना ही रूस का विरोध किया। यदि भारतीय पर्याप्त रूप से शक्तिशाली होते तो युद्ध को रोक देते लेकिन ऐसा नहीं कर सकते। ‌ इस युद्ध में हम जैसे देशों के लिए सुरक्षा और आर्थिक मुद्दों को बढ़ाया है।

भारत का प्रयास हमेशा लोगों को जोड़ने के लिए : संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि विश्व विजेता बनने की हमारी कोई इच्छा नहीं है। हम किसी को जीतना नहीं चाहते बल्कि हमें लोगों को जोड़ना है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी सब को जोड़ने का कार्य करता है, जीतने का नहीं। ‌ अपना भारत देश सभी को जोड़ने के लिए अस्तित्व में है। नीति निर्धारण ठीक से ना हो तो सत्ता विकार बन जाती है।
आज के मुसलमानों के पूर्वज भी हिंदू थे : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत। The ancestors of today’s Muslims were also Hindus: RSS chief Mohan Bhagwat.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button