Crime NewsFEATUREDउत्तर प्रदेशगोरखपुर

गोरखनाथ मंदिर पर हमला करने वाला विदेशी इस्लामिक संस्थाओं को पैसे भेजता था, गोरखपुर अहमद मुर्तजा अब्बासी वाले मामले में बड़ी अपडेट

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद स्थित गोरखनाथ मंदिर धाम पर हमले के प्रयास करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी के गिरफ्तार होने के बाद खुफिया एजेंसियों की जांच में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। ताजा खुलासा अंतर्गत पता चला है कि अहमद मुर्तुजा अब्बासी विदेश में कई इस्लामिक संस्थाओं को अपने खाते से पैसा भेजा करता था। आने वाले समय में और नए खुलासे होने के आसार हैं।

गोरखरपुर के गोरखनाथ मंदिर पर हमले के आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी के मामले में जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ती जा रही है वैसे वैसे हर दिन इस मामले में नये खुलासे हो रहे हैं. आज सुरक्षा एजेंसियो ने जून 2021 में क्रेडिट कार्ड से मुर्तज़ा के द्वारा किये गये ट्रांजेक्शन्स को ट्रैक किया है।जिसमें उनको पता चला है कि मुर्तजा कई इस्लामिक संस्थाओं को पे-पाल के जरिये ज्यादातर पैसे विदेश भेजता था. जून 2021 में उसके क्रेडिट कार्ड से एक के बाद एक ट्रांजेक्शंस किए जाने की बात सामने आई थी. सुरक्षा एजेंसियों को कई इस्लामिक संस्थाओं में 22000, 700, 16594, 16622 और 22907 रुपये के ट्रांजेक्शन का ब्यौरा मिला है. उसने बीते चार से पांच महीने में शमीउल्लाह नाम के व्यक्ति के खाते में कई बार हज़ारों रुपये भेजे थे।

Photo by Google

सुरक्षा एजेंसियों ने मुर्तजा का खाता सीज किया-

मुर्तजा एक खाते में आने वाले पैसों को दूसरे खातों में ट्रांसफर करके ही विड्रॉल करता था। मुर्तजा एक नहीं बल्कि दो मोबाइल अपने पास रखता था, उसने सीरिया, कनाडा और अमेरिका में भी कुछ लोगों को पैसा भेजा है। गोपनीयता के मकसद से सुरक्षा एजेंसियों ने मुर्तज़ा के खाते और मोबाइल, आधार डिटेल्स को ब्लॉक करवाया है।

मुर्तजा अब्बासी के आईसीआईसीआई, फ़ेडरल और आईडीएफ़सी इन तीन बैंकों में खाते थे। उसके पास आईसीआईसीआई बैंक का भी एक क्रेडिट कार्ड था।  मुर्तजा ने जांच अधिकारियों को बताया कि वह सीरिया की युवती के साथ संपर्क में था। कई बार उसे ऑनलाइन पैसा भी ट्रांसफर किया और जिहाद की ऑनलाइन शपथ भी ली थी। मुर्तजा ने बताया कि सीरिया की लड़की से भावनात्मक रूप से वह जुड़ गया था।

महराजगंज से गिरफ्तार किया गया मुर्तजा का  परिचित

यूपी एटीएस ने गोरखपुर हमलों के बाद महराजगंज से मुर्तजा अब्बासी  के एक परिचित को भी पकड़ा है। नेपाल से लौटने के बाद मुर्तजा इसी शख्स से मिला था। संभल के मियाँसराय के रहने वाले मुर्तज़ा के परिचित की तलाश भी एटीएस को है। जानकारी के मुताबिक अब एनआईए भी आज अहमद मुर्तजा से पूछताछ करेगी। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की टीम भी जांच के बाद अपनी रिपोर्ट तैयार करेगी।

Photo by Google

गोरखनाथ मंदिर में सुरक्षा कर्मियों पर हमले की कोशिश में पकड़ा गया था अब्बासी

रविवार (3 अप्रैल) की देर रात 30 साल के मुंबई आईआईटी ग्रेजुएट अहमद मुर्तजा अब्बासी ने गोरखनाथ मंदिर परिसर में एंट्री करने की कोशिश की और जब सुरक्षा कर्मियों ने उसे रोकने की कोशिश की, तो उसने सुरक्षाकर्मियों पर धार दार हथियार से हमला किया, जिससे (पीएसी) के दो कांस्टेबल घायल हो गए। जांचकर्ताओं को संदेह है कि अब्बासी कट्टरपंथी है। गोरखनाथ मंदिर परिसर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आवास भी है जो मंदिर के मुख्य पुजारी हैं। हमले के वक्त योगी आदित्यनाथ मंदिर परिसर में नहीं थे।

पूरे मामले ने यूपी की सियासत में सुरक्षा के मुद्दे को उठाते हुए भूचाल ला दिया था। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का घर मंदिर के अंदर ही है और ऐसे में बंदी पर हमले के बाद सियासत का गर्म होना लाजमी है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button