Crime NewsFEATUREDउत्तर प्रदेशसोनभद्र

ट्विटर पर आला अधिकारियों को शिकायत के बाद हरकत में आई रेनू सागर पुलिस।

लूटपाट व जानलेवा हमले में पुलिस ने समय से नहीं की कार्रवाई?

मुफ्त में दारू मांगने को लेकर दुकान संचालक से लूटपाट व मारपीट की शिकायत के बाद भी पुलिस ने मामले का संज्ञान नहीं लिया। ट्विटर पर आला पुलिस अधिकारियों से शिकायत के बाद हरकत में आई पुलिस आरोपियों की खोजबीन में जुटी।

रेनू सागर कोलगेट स्थित देशी दारू दुकान संचालक मनोज गुप्ता ने रेनूसागर पुलिस चौकी में लिखित तहरीर दिया है कि 6 अप्रैल को रात 10:00 बजे, जब दुकान बंद कर रहा था तो कुछ लड़के हाथ में बीयर की बोतल लेकर आए और मुफ्त में दारू की मांग करने लगे। जिसके बाद लूटपाट व मारपीट की घटना को अंजाम दिया गया। दुकान संचालक ने तहरीर में बताया है कि लाठी-डंडे व पंच से मारपीट कर लहूलुहान करने के बाद मोबाइल व पैसे का बैग छीन कर भाग गए।

 

पीड़ित ने 7 अप्रैल को आरोपियों के खिलाफ नाम दर्ज तहरीर देते हुए पुलिस से न्याय की मांग की है। लेकिन रेनू सागर चौकी प्रभारी ने मामले को गंभीरता से लेने के बजाय टालमटोल करते रहे, जिस कारण आरोपियों को भूमिगत होने का मौका मिल गया। 8 अप्रैल को सुबह ट्विटर व पिपरी क्षेत्राधिकारी को मामले की जानकारी देने के बाद अनपरा कोतवाल ने मुस्तैदी दिखाते हुए रेनू सागर चौकी प्रभारी को आरोपियों के गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं।

पूरे मामले में लूटपाट व मारपीट से लहूलुहान घायल पीड़ित न्याय की फरियाद में कानून का दरवाजा खटखटाता रहा, लेकिन “वर्दी भी, हमदर्दी भी” ध्येय को मानने वाली पुलिस ने पीड़ित के साथ समय से हमदर्दी नहीं दिखाई और आरोपी पुलिस के लेटलतीफी का फायदा उठाकर भूमिगत होने में कामयाब हो गए। पिपरी क्षेत्राधिकारी प्रदीप सिंह चंदेल ने फोन पर बताया कि दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा और पीड़ित के साथ सहानुभूति रखते हुए मामले को गंभीरता से लेकर जांच की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button