Crime NewsFEATUREDउत्तर प्रदेशनोएडा/गौतम बुद्ध नगर

प्यार और धोखा : महिला ने नाइजीरियन से किया प्यार, शादी के नाम पर ठगे लाखों रुपए, पुलिस ने किया खुलासा-अब तक कर चुका है 50 करोड़ की ठगी ?

विदेशी (Foreigners) या एनआरआई (NRI) लड़के से शादी की चाहत में धोखेबाजी खाने वालों की फेहरिस्त लंबी है। साइबर ठगी का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। लाख कोशिश के बाबजूद ठग नए-नए तरीके से लोगो को अपना शिकार बना रहे है। जमकर ठगी कर रहे है। नोएडा साइबर क्राइम टीम ने एक ऐसे नाइजीरिया मुल्क के आरोपी को गिरफ्तार है, जो महिलाओ को तमाम साइट के माध्यम से अपने झांसे में लेकर उनसे ठगी करता था।

पुलिस की गिरफ्त में नाइजीरियन ठग।

नोएडा साइबर क्राइम के एसपी डॉ0 त्रिवेणी सिंह ने बताया कि ग्रेटर नोएडा के गौर सिटी में रहने वाली एक महिला ने नोएडा के सेक्टर-36 स्थित साइबर क्राइम थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि जीवनसाथी डॉट कॉम के माध्यम से एक व्यक्ति से उसकी दोस्ती हुई। उसने अपने आप को एनआरआई बताया। उसने अपना नाम योगेंद्र जैन बताया और मौजूदा समय में लंदन में रहना बताया। उक्त व्यक्ति ने उससे शादी करने का वादा किया। उसने कहा कि उसके माता-पिता भारत में रहते हैं। वह उससे मिलने के लिए भारत आ रहा है।

नोएडा साइबर क्राइम टीम के गिरफ्त में खड़ा ये नाइजीरिया मुल्क का शख्स बड़ा ही शातिर किस्म का ठग है। आज इसे साइबर टीम ने गिरफ्तार कर एक प्रेस वार्ता कर घटना का अनावरण किया। पूँछतांछ में आरोपी ने बताया कि इसका असली नाम इशीतर चर्चिल पॉल (Ishitor Churchill Paul) है। वह मेडिकल वीजा पर 2018 में भारत में आया था और इथिकल हैकिंग (Ethical hacking) सीखकर भारत में निवास करने वाले लोगों से Social Media व Matrimonial Sites के माध्यम से NRI बनकर भारतीय लड़कियों से दोस्ती करके उनको विश्वास मे लेकर शादी करने का झांसा देकर महंगे गिफ्ट व विदेशी करेंसी भेजने के नाम पर ग्रुप के ही महिला व पुरुष सदस्यों द्वारा कस्टम अधिकारी बनकर Airport पर गिफ्ट व विदेशी करेंसी को रीलीज करने के लिये लाखो रूपये की ठगी करता हैं।

जाँच में बरामद कागजों से लैपटॉप का डाटा चेक करने पर यह जानकारी मिली कि विदेश में नौकरी लगवाने के नाम पर व लॉटरी निकालने के नाम पर (जैसे- आपकी 25 करोङ की लॉटरी निकली है आदि के नाम पर लोगों से रूपये लेकर ठगने का फ्राड) हजारों लोगों के डाटा व लैपटॉप डाटा एनालिसिस से 30,000 से अधिक ई-मेल आईडी (E-mail ID) बनाकर लोगों के साथ विभिन्न सरकारी संस्थाओं (सीबीआई – CBI, सीबीईसी – CBEC, आरबीआई – RBI, ब्रिटिश मिनीस्ट्री ऑफ फाइनेंस (British Ministry of Finance) का लैटर हैड, यूनाइटेड नेशन ऑफ ड्रग्स (United Nations) का लैटर हैड, VLS Airway टिकट, केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क (GST) बोर्ड का लैटर हैड, सर्टिफिकेट अवॉर्ड कोका कोला (Coca Cola), रॉयल बैंक ऑफ स्वीट्जरलैंड (Royal bank of Switzerland) का लैटर हैड, कोका कोला इन्वीटेशन प्राइज अवार्ड का लैटर हैड, कॉर्पोरेट हैडक्वार्टर ऑफ मिलोनेश्ले का लैटर हैड, सैमसंग – Samsung लॉटरी का अवॉर्ड लैटर आदि) के लेटर हेड का प्रयोग करते हुए व इनके साथ गैंग मे शामिल आरोपी की पत्नी जोश्लीन व अन्य महिलाओं व अन्य पुरुष सहयोगियों के साथ मिलकर, गैंग बनाकर ठगी करते थे।

पीडित को पत्र भेज कर ठगी करते हैं। जांच में पता चला है कि अबतक लगभग 50 करोड़ रूपये की ठगी की गयी है। Greater Noida निवासी महिला ने बताया कि Jeevansathi dot com के माध्यम से योगेन्द्र जैन बनकर सम्पर्क किया और अपने आपको यूके (UK) में डॉक्टर (Doctor) बताया तथा भारत (India) में भ्रमण के लिये आने पर एयरपोर्ट पर 50,000 पाउण्ड्स के साथ पकड़े जाने पर कस्टम ड्यूटी (Custom Duty) के नाम पर 10 लाख रूपये की मांग की गयी। पीड़िता से 1,07,500 धोखाधडी कर विभिन्न बैंक खातों में डलवा लिये गये। इस काम में आरोपी की पत्नी जोसलीन अंथोनी फ्रान्सिस कस्टम अधिकारी की भूमिका में बात करती है।

आरोपी के पास से पुलिस ने 17 मोबाइल फोन, 46 सिम कार्ड, दो लैपटॉप, कंप्यूटर हार्ड डिक्स, 6 इंटरनेट डोंगल, 39,500 रुपए नगद, एटीएम कार्ड वह फर्जी दस्तावेज  बरामद किया है। नोएडा एसपी साइबर क्राइम डा0 त्रिवेणी सिंह ने इस पूरे घटनाक्रम का खुलासा करने वाली साइबर टीम को 25000 का इनाम भी घोषित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button