FEATUREDउत्तर प्रदेशलखनऊ

10 हजार सरकारी नौकरी : मुख्यमंत्री योगी सरकार का 100 दिन का रोडमैप तैयार।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अफसरों को 6 महीने और वार्षिक भर्तियों का लक्ष्य तय करने का निर्देश दिया।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री पद की दूसरी बार शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ हर एक दिन को बेहतर बनाना चाहते हैं, जो उत्तर प्रदेश के विकास में मील का पत्थर साबित हो। बृहस्पतिवार को समस्त सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष व शासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर लंबित भर्ती प्रक्रिया को तेज करने, पेंडिंग मामलों का निस्तारण और नई भर्तियों की योजना तैयार करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी 100 दिनों में 10,000 सरकारी नौकरी देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। वरिष्ठ अधिकारियों को भर्तियों के लिए 6 महीने और वार्षिक लक्ष्मी तय करने के निर्देश दिए हैं। 100 दिन के आंकड़े को प्राप्त करने के बाद 6 महीने व 1 वर्ष के आंकड़ा निर्धारित करने का भी निर्देश दिया है। पालीवाल समिति की संस्तुतियों के अनुरूप पूरी पारदर्शिता व निर्धारित समय सीमा में तेजी से भर्ती प्रक्रिया संपन्न कराने का समस्त चयन बोर्ड के बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है। एक सत्र से जुड़ी सभी भर्ती परीक्षाएं इसी सत्र में संपन्न कराई जाने व भारतीय कार्यवाही की अवधि कम करने का भी निर्देश दिया है।

प्रश्न पत्र लीक होने की चुनौतियों के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने भर्ती कार्यवाही को शुचितापूर्ण, पारदर्शी, निष्पक्ष व भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए परीक्षा एजेंसी चयन ने विशेष सावधानी और सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। भारतीय आयोग व बोर्ड को निर्देश जारी किया कि सभी भर्ती परीक्षा से पहले गृह विभाग से समन्वय बनाए जाए और परीक्षा केंद्रों के चयन में सावधानी बरती जाए। नौकरी के लिए निर्धारित परीक्षा केंद्रों के चयन में सरकारी विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाने में वरीयता दी जाए और जिला प्रशासन सुनिश्चित करें कि कोई भी दागदार छवि वाला केंद्र, परीक्षा केंद्र न बन सके। बैठक में मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र, अपर मुख्य सचिव कार्मिक डॉ देवेश चतुर्वेदी, राज्य लोक सेवा आयोग, अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, पुलिस भर्ती बोर्ड, उत्तर माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड तथा अपर मुख्य सचिव आदि उपस्थित रहे।

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के चेयरमैन प्रवीण कुमार ने बताया कि 100 दिन के निर्धारित लक्ष्य को देखते हुए यह आनंद के 9212 पदों की मुख्य परीक्षा करा कर रिजल्ट घोषित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने भर्ती प्रक्रिया में आरक्षण का पूरा ध्यान वह पालन करने का निर्देश दिया है। नौकरी के लिए जारी विज्ञापनों में आरक्षण नियमों का स्पष्ट उल्लेख करने व तकनीक का भरपूर प्रयोग करने का निर्देश दिया है। मृतक आश्रितों की भर्ती करवाई बेहतर व संवेदना पूर्ण तरीके से तय समय में पूरी करने का भी निर्देश जारी किया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अधिकारियों को 100 दिन का लक्ष्य देते हुए कहा है कि 10000 सरकारी नौकरी देने के कार्य पूर्ण किया जाए और साथ ही छमाही व वार्षिक लक्ष्य भी निर्धारित किए जाएं। हर 1 महीने पर लक्ष्य निर्धारित करने की समीक्षा बैठक होगी। सभी अधिकारियों विभागों को निर्देश जारी किए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button