FEATUREDमध्यप्रदेशराजनीतिसिंगरौली

लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के साथ अमानवीय व्यवहार बेहद निंदनीय -पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह।

सीधी पुलिस द्वारा पत्रकारों के साथ की गई अमानवीय व्यवहार की खबर वायरल होने के बाद हर कोई शिवराज सरकार व पुलिस प्रशासन की निंदा कर रहा है। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह उर्फ राहुल भैया ने सीधी पुलिस द्वारा पत्रकार कनिष्क तिवारी के साथ किये गए अमानवीय व्यवहार की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा है कि पुलिस का यह व्यवहार न केवल पुलिसिया आतंक को दर्शाता है बल्कि प्रदेश की भाजपा सरकार का मीडिया के प्रति उसकी सोच को भी प्रदर्शित करता है।

अजय सिंह ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति ने अपराध किया है तो उसकी सजा के लिए संवैधानिक व्यवस्थाएं हैं, जिनके माध्यम से अपराध करने वाले व्यक्ति को सजा दी जाती है। लेकिन सीधी में एक पत्रकार के कपड़े उतरवाकर उसके फोटो वायरल कर उसके साथ जो अमर्यादित व्यवहार किया गया उससे पुलिस का वास्तविक और गैर जिम्मेदाराना चेहरा सामने आया है। भाजपा सरकार में ऐसी कई घटनाएं हुई हैं, जिसमे लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर सीधा हमला किया गया है।

श्री सिंह ने कहा कि इस तरह की घटनाओं से यह साबित होता है कि प्रदेश सरकार पुलिस के माध्यम से मीडिया साथियों पर दहशत का वातावरण निर्मित कर अपनी मर्जी चलाना चाहती है।

Inhuman treatment with the fourth pillar of democracy is highly condemnable- Former Leader of Opposition Ajay Singh.

Everyone is condemning the Shivraj government and the police administration after the news of the inhuman treatment of journalists by the direct police went viral. In this episode, former Leader of Opposition of Madhya Pradesh Legislative Assembly Ajay Singh alias Rahul Bhaiya has strongly condemned the inhuman treatment done by the direct police to journalist Kanishk Tiwari and said that this behavior of the police not only shows police terror but also The BJP government of the state also shows its thinking towards the media.

Ajay Singh said that if a person has committed a crime, then there are constitutional arrangements for his punishment, through which the person who committed the crime is punished. But the indecent treatment meted out to a journalist in Sidhi by taking his clothes off and making him go viral has exposed the real and irresponsible face of the police. There have been many such incidents in the BJP government, in which the fourth pillar of democracy has been directly attacked.

Shri Singh said that such incidents prove that the state government wants to run its own free will by creating an atmosphere of panic on the media comrades through the police.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button