FEATUREDधर्म/संस्कृतिपटनाबिहार

धार्मिक जुलूस से बिगड़ सकती है देश की एकता और अखंडता : पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी।

Unity and integrity of the country can be disturbed by religious procession: Former Chief Minister Jitan Ram Manjhi.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और विवादों का चोली दामन का साथ रहा है। अपने विवादित भाषणों के कारण अक्सर सुर्ख़ियों में बने रहे जीतन राम मांझी का धार्मिक जुल्फों के ऊपर ताजा बयान ने बवंडर खड़ा कर दिया है। धार्मिक जुलूसों के आयोजन पर बोलते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने देश की एकता और अखंडता को जोड़ें रहने हेतु धार्मिक जुलूस को बैन करने की मांग किया है।

चैत्र रामनवमी व भगवान हनुमान जन्मोत्सव के दिन देश के विभिन्न हिस्सों में शोभा यात्रा पर पथराव और हिंसक झड़प की घटनाएं सामने आई थीं। इन घटनाओं में पुलिस प्रशासन की तरफ से जांच कर उचित कार्रवाई की गई। दिल्ली के जहांगीरपुरी में हु इस सांप्रदायिक हिंसा पर टिप्पणी करते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर बयान जारी किया है।

 

जीतन राम मांझी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से पोस्ट करते हुए लिखा है कि “अब वक्त आ गया है, जब देश में हर तरह के धार्मिक जुलूस पर रोक लगा दी जाए। धार्मिक जुलूसों के कारण देश की एकता और अखंडता खतरे में पड़ती दिखाई दे रही है, इसे तुरंत रोकना होगा।”

जीतन राम मांझी ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को टैग किया है। धार्मिक जुलूस पर बैन करने की बात कहकर पूर्व सीएम मांझी ने देश में नई बहुत छेड़ दी है।

भगवान श्रीराम पर भी बयान देकर मचा चुके हैं बवाल-

विगत दिनों पूर्व बिहार सीएम जीतन राम मांझी ने भगवान श्री राम के बारे में बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया था। मांझी ने कहा था कि “तुलसीदास जी और बाल्मीकि जी ने अपनी बातों को कहने के लिए एक पात्र बनाया, इस पत्र के माध्यम से उन्होंने यथार्थ को इंगित किया है। काव्य और महाकाव्य में बहुत ही अच्छी बातें हैं। उनको हम मानते हैं। हम तुलसीदास और बाल्मीकि जी को मानते हैं लेकिन राम को हम नहीं मानते हैं।”

गौरतलब है कि बिहार में सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) भी शामिल है। ऐसे में मांझी के उल जलूल बयानों से भाजपा भी लपेटे में आ जाती है।

Former Bihar Chief Minister Jitan Ram Manjhi and controversies have been with him. Jitan Ram Manjhi, who is often in the headlines due to his controversial speeches, has created a whirlwind in the latest statement on religious slurs. Speaking on the organization of religious processions, the former Chief Minister of Bihar has demanded a ban on religious processions to maintain the unity and integrity of the country.

Incidents of stone pelting and violent clashes on Shobha Yatra were reported in different parts of the country on the day of Chaitra Ramnavmi and Lord Hanuman’s birth anniversary. In these incidents, appropriate action was taken after investigation by the police administration. Commenting on this communal violence in Jahangirpuri, Delhi, former Bihar Chief Minister Jitan Ram Manjhi has issued a statement by tweeting.

Jitan Ram Manjhi, posting from his official Twitter handle, wrote that “The time has come when all kinds of religious processions should be banned in the country. Due to religious processions, the unity and integrity of the country appears to be in danger.” It has to be stopped immediately.”

Jitan Ram Manjhi has tagged Prime Minister Narendra Modi, Bihar Chief Minister Nitish Kumar and Union Home Minister Amit Shah in his tweet. Former CM Manjhi has stirred a lot in the country by saying that there should be a ban on religious processions.

There has been a ruckus by giving statements on Lord Shri Ram too.

Recently, Bihar CM Jitan Ram Manjhi had created a controversy by making a statement about Lord Shri Ram. Manjhi had said that “Tulsidas ji and Valmiki ji made a character to express their words, through this letter they have pointed out the reality. There are many good things in poetry and epic. We believe them. We We believe in Tulsidas and Valmiki but we do not believe in Ram.

It is worth noting that the ruling National Democratic Alliance (NDA) in Bihar also includes former Chief Minister Jitan Ram Manjhi’s Hindustani Awam Morcha (HAM). In such a situation, BJP also gets wrapped up in Manjhi’s remarks.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button