FEATUREDधर्म/संस्कृतिभारत

रामनवमी के दिन भगवान श्री राम की कृपा पाने के लिए यह चमत्कारी उपाय करें : RAM NAVAMI 2022

Do this miraculous remedy to get the blessings of Lord Shri Ram on the day of Ram Navami.

भगवान राम अयोध्या के चक्रवर्ती सम्राट राजा दशरथ और महारानी कौशल्या के पुत्र थे। भगवान श्रीराम को विष्णु जी का सातवां अवतार माना जाता है। प्रत्येक वर्ष चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम का जन्म उत्सव मनाया जाता है। पूरे देश में रामनवमी को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इस बार रामनवमी 10 अप्रैल दिन रविवार को है। इस बार रामनवमी के दिन रवि पुष्य योग, सर्वार्थ सिद्धि योग एवं रवि योग का त्रिवेणी संयोग बन रहा है। शास्त्रों के अनुसार नवमी तिथि पर भगवान राम का जन्म हुआ था इसलिए इस शुभ दिन को रामनवमी के नाम से जाना जाता है। रामनवमी के दिन ऐसे उपाय जिन्हें करने से जीवन में सुख समृद्धि शांति मिलेगी। पढ़ें पूरी रिपोर्ट-

अयोध्या राम लला, photo by Google

प्रभु श्री राम का नाम बोलना भवसागर से पार तो लगाता ही है साथ ही मनुष्य को समस्त प्रकार के दैहिक, दैविक एवं भौतिक तापों उससे मुक्ति प्रदान करता है। भगवान शिव अनादि काल से जिस राम नाम का स्मरण करते हैं और जिस नाम की महिमा का बखान भगवती पार्वती से किया है, जिनके सेवार्थ उन्होंने हनुमान रूप में अवतार लिया। धर्म शास्त्रों के अनुसार भगवान राम के नाम का जाप करना है ऐसी शक्ति है जो इस संसार क्या पर लोगों को संकट काटने में भी रामबाण है। अपने जीवन के अंतिम समय में जो व्यक्ति राम नाम का भजन करता है उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है।

राम नाम के लेख से कष्ट होंगे दूर-

सुख समृद्धि की प्राप्ति के लिए नित्य प्रतिदिन भगवान राम के नाम को लिखना चाहिए, जिससे पुण्य प्रताप से सौभाग्य निर्माण के रास्ते खुलते हैं। शास्त्रों की कथा अनुसार बताया जाता है कि राम नाम लिखने के चमत्कारिक लाल के बारे में भगवान श्री कृष्ण ने धर्मराज युधिष्ठिर को बताया था, ताकि वह अपना खोया हुआ राज्य पुनः प्राप्त कर सके। राम नाम लिखने की कोई नियम, समय या स्थान की पाबंदी नहीं होती है। राम को जपने वाले स्वयं राम का रूप हो जाते हैं यह बात स्वयं श्री राम ने हनुमान जी से कही है।

वास्तु दोष दूर करने हेतु राम नाम जाप-

यदि किसी के घर में वास्तु दोष के कारण अशांति का माहौल रहता है तू इसे दूर करने के लिए रामनवमी के दिन एक पात्र में गंगाजल ले, उसके बाद भगवान राम की तरह पूर्व दिशा की ओर मुख करके श्रीराम के रक्षा मंत्र “ओम श्रीं ह्लीं क्लीं रामचंद्राय श्रीं नमः” का 108 बार जाप करें। इसके बाद बाथरूम में रखे हुए गंगाजल को घर के चारों तरफ छिड़क दें, ऐसा करने से घर का वास्तु दोष खत्म हो जाता है।

संकट मोचन हनुमान चालीसा का पाठ-

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के परम भक्त संकट मोचन पवन पुत्र हनुमान जी का गुणगान तुलसीदास द्वारा चरित हनुमान चालीसा में मिलता है। इसलिए रामनवमी के दिन मन में कोई मनोकामना रखकर हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं तो भगवान राम और भक्त हनुमान दोनों की कृपा से आपकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है। साथ ही इस दिन रामायण पाठ, राम स्तुति, सुंदरकांड आदि करना भी विशेष फलदाई होता है।

Do this miraculous remedy to get the blessings of Lord Shri Ram on the day of Ram Navami.

Lord Rama was the son of King Dasharatha and Queen Kaushalya, the Chakravarti emperor of Ayodhya. Lord Shri Ram is considered to be the seventh incarnation of Vishnu. Every year on the ninth date of Shukla Paksha of Chaitra month, the birth anniversary of Maryada Purushottam Lord Shri Ram is celebrated. Ram Navami is celebrated with great pomp across the country. This time Ram Navami is on Sunday, April 10. This time on the day of Ram Navami, a triveni combination of Ravi Pushya Yoga, Sarvartha Siddhi Yoga and Ravi Yoga is being formed. According to the scriptures, Lord Rama was born on Navami Tithi, hence this auspicious day is known as Ram Navami. On the day of Ramnavami, such measures, which will give happiness, prosperity and peace in life. Read full report-

Speaking the name of Lord Shri Ram not only crosses the ocean of the universe, but also liberates man from all kinds of physical, divine and material heats. The name of Rama which Lord Shiva remembers from time immemorial and the name of which has been glorified by Bhagwati Parvati, for whose service he incarnated in the form of Hanuman. According to religious scriptures, chanting the name of Lord Rama is such a power that in this world, it is also a panacea in cutting people’s troubles. In the last time of his life, the person who worships the name of Ram attains salvation.

Troubles will be removed from the article of Ram’s name-

For the attainment of happiness and prosperity, the name of Lord Rama should be written on a daily basis, which opens the way for the creation of good fortune by virtue. According to the legend of the scriptures, it is said that Lord Krishna had told Dharmaraja Yudhishthira about the miracle of writing the name of Rama, so that he could regain his lost kingdom. There is no rule, time or place restriction for writing Ram Naam. Those who chant Ram themselves become the form of Ram, Shri Ram himself has said this to Hanuman ji.

To remove Vastu defects, chant the name of Ram-

If there is an atmosphere of unrest in someone’s house due to Vastu defects, to remove it, on the day of Ram Navami, take Gangajal in a vessel, then face the east direction like Lord Rama, the protection of Shri Ram “Om Shrim Hleen Klein” Chant “Ramachandraya Shrim Namah” 108 times. After this, sprinkle Gangajal kept in the bathroom all around the house, by doing this the Vastu defect of the house ends.

The text of Sankat Mochan Hanuman Chalisa

The praise of Sankat Mochan Pawan son of Hanuman ji, the supreme devotee of Maryada Purushottam Shri Ram, is found in the Hanuman Chalisa written by Tulsidas. Therefore, on the day of Ramnavami, if you recite Hanuman Chalisa keeping any wish in your mind, then by the grace of both Lord Rama and devotee Hanuman, your wish is definitely fulfilled. Along with this, doing Ramayana lessons, Ram Stuti, Sundarkand etc. is also very fruitful on this day.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button