उत्तर प्रदेशसोनभद्र

विकास योजनाओ में लापरवाही बरतने पर कड़ी कार्यवाही होगी- मुख्य विकास अधिकारी।

मुख्य विकास अधिकारी ने विकास खण्ड चोपन का किया औचक निरीक्षण।

मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 अमित पाल शर्मा ने मंगलवार को विकास खण्ड चोपन का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी, जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह उपस्थित रहें। मुख्य विकास अधिकारी ने सर्व प्रथम विकास खण्ड कार्यालय कि उपस्थिति पंजिका का निरीक्षण किया, उपस्थिति पंजिका निरीक्षण में यह पाया गया कि अवर अभियन्ता लद्यु सिंचाई प्रमोद कुमार सिंह 24.03.2022 से अनुपस्थित है, इसके अतिरिक्त सुरेश चन्द्र सहायक विकास अधिकारी सहकारिता 26.03.2022 से अनुपस्थित है, जिनके सम्बन्ध में खण्ड विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि ये दोनों अधिकारी बोर्ड परीक्षा की ड्यूटी में है परन्तु इसके सम्बन्ध में कोई अभिलेख प्रस्तुत नहीं किया गया।

अमरेश चन्द्र सिंह सहायक विकास अधिकारी पंचायत का नाम पंजिका में अंकित था परन्तु इनके द्वारा हस्ताक्षर नहीं किया जाता, जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने सहायक विकास अधिकारी अमरेश चन्द्र सिंह के वेतन भुगतान पर रोक लगाने हेतु जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया एवं खण्ड विकास अधिकारी द्वारा अपने कार्यालय के अधिनस्थ कर्मचारियों पर प्रभावि नियन्त्रण नहीं होने पर नाराज़गी व्यक्त की और कार्य पद्धति में सुधार लाने हेतु निर्देशित किया। इस दौरान उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि जनपद में सभी विकास खण्डो में कार्यरत सहायक विकास अधिकारी पंचायत द्वारा उपस्थिति पंजिका पर अपनी नियमित उपस्थिति दर्ज करायी जाये।

इसी प्रकार मुख्य विकास अधिकारी ने प्रधानमंत्री आवास मुख्यमंत्री आवास योजना अन्तर्गत कराये जा रहे निर्माण कार्यों के प्रगति की समीक्षा की, समीक्षा के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायत अधिकारी/ग्राम विकास अधिकारियों से आवास निर्माण के प्रगति की प्रति दिन समीक्षा करें जिन आवासों के निर्माण कार्य विवाद के कारण नहीं हो पा रहे है उसकी सूची उपलब्ध कराये। समीक्षा के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत अभी तक 34 आवास के निर्माण कार्य पूर्ण नहीं है जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी को चेतवानी देते हुए कहा कि इन आवासों के निर्माण कार्य 20 दिवस के अन्दर पूर्ण कराना सुनिश्चित करें।

इसी प्रकार मुख्य विकास अधिकारी ने अनुदान पंजिका विधायक निधि मनरेगा योजना पंचायती राज विभाग द्वारा कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा की तथा सम्बन्धित अधिकारीयों का निर्देशित करते हुए कहा कि निर्धारित समय अवधि के अन्तर्गत कराये जा रहे विकास योजनाओ से सम्बन्धित कार्यों को पूर्ण कराना सुनिश्चित करें इसमें किसी भी स्तर पर सिथिलता व लापरवाही न बरती जाये अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button