उत्तर प्रदेशसोनभद्र

क्षय रोग दिवस कार्यक्रम का कलेक्ट्रेट सभागार में हुआ आयोजन।

सोनभद्र-24 मार्च, 2022।

प्रत्येक वर्ष की भाँति गुरुवार 24 मार्च को विश्व क्षय रोग दिवस के कार्यक्रम का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। इस अवसर पर एक गोष्ठी एवं टी0बी0 मरीजों को गोद लेने का कार्यक्रम जिलाधिकारी महोदय की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये जिलाधिकारी टी0के0 शिबु ने कहा कि क्षय रोग घातक है, परन्तु इसका इलाज है। उन्होंने टी0बी0 के मरीजों के अभिभावकों से अनुरोध किया कि जो दवाएं उन्हें अस्पताल से मिल रही हैं उन्हें नियमित रूप से मरीज को दें, जिससे वह स्वस्थ्य हो जायेगा। इसके साथ ही मरीज के लिये स्वच्छ वातावरण, घर में हवा के आने जाने की अच्छी व्यवस्था, अन्य आवश्यक सावधानियां न केवल मरीज के लिये लाभप्रद है अपितु घर के अन्य सदस्यों को भी बीमारी से सुरक्षित रखने में सहयोगी होगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि सावधानी रखकर टी0बी0 के बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है। इसके साथ ही मरीज को पौष्टिक आहार नियमित रूप से दिया जाना भी उसके लिये लाभप्रद होगा। जिलाधिकारी ने उपस्थित टी0बी0 मरीजांे तथा उनके अभिभावकों को टी0बी0 का इलाज पूरा करने तथा नियमित जाँच व संतुलित पोषक आहार लेने के लिए प्रेरित भी किया। बैठक में अपर जिलाधिकारी श्री राकेश सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 आर0एस0 ठाकुर, एसीएमओ डाॅ0 आर0जी0 यादव, अपर जिला सूचना अधिकारी श्री विनय कुमार सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहें।

संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान की तैयारियों की जिलाधिकारी ने की बिन्दुवार समीक्षा-

02 अप्रैल से प्रथम चरण में संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रारंभ होकर 30 अप्रैल, 2022 तक -जिलाधिकारी।

15 से 30 अप्रैल,2022 तक जनपद में चलाया जायेगा दस्तक अभियान-जिलाधिकारी।

सभी विभाग आपस में समन्वय स्थापित कर, अभियान को बनाये सफल-जिलाधिकारी।

जिलाधिकारी टी0के0 शिबु ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के तैयारियों के सम्बन्ध में अधिकारियों के साथ बिन्दुवार समीक्षा की। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रथम चरण में 02 अप्रैल से प्रारंभ होकर 30 अप्रैल, 2022 तक चलेगा एवं दस्तक अभियान 15 अप्रैल से प्रारंभ होकर 30 अप्रैल, 2022 तक चलेगा। इस अभियान को सफल बनाने हेतु सभी विभाग आपस में समन्वय स्थापित कर, कार्ययोजना बनाकर अभियान को पूरा करने में पूरे मनायोग से लग जायें।

इस अभियान में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचारी रोग एवं दिमागी बुखार सेे रोकथाम एवं नियंत्रण गतिविधियां ग्राम पंचायत एवं ग्राम स्तरों पर चलायी जायेगी। फ्रंट लाईन्स वर्कर द्वारा उपलब्ध करायी गयी लक्षणयुक्त व्यक्तियों की सूची में उल्लिखित रोगियों के लक्षण के अनुसार संचारी रोगों की जाॅच की व्यवस्था और रोगियों के निःशुल्क परिवहन की व्यवस्था की जायेगी। नगर पंचायत व नगर पालिका द्वारा नगरीय क्षेत्रों में स्वच्छता के उपायांे जैसे-खुले में शौच न करने, शुद्ध पेयजल के प्रयोग, साफ-सफाई, मच्छरों के रोक-थाम हेतु जागरूकता अभियान संचालित किया जायेगा। पंचायती राज विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम निगरानी समितियों के माध्यम से संचारी रोगों के नियंत्रण जागरूकता स्थापित करना तथा कोविड रोग के लक्षणयुक्त लोगों को वैक्सीन उपलब्ध कराने में सहयोग किया जायेगा।

ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोने सहित विभिन्न प्रकार की गतिविधियां संचालित की जायेंगी। इसी प्रकार से पशु पालन विभाग, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग सहित सभी विभाग आपस में समन्वय स्थापित करते हुए इस अभियान को सफल बनाने मंें अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगें। बैठक में अपर जिलाधिकारी श्री राकेश सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 आर0एस0 ठाकुर, एसीएमओ डाॅ0 आर0जी0 यादव, अपर जिला सूचना अधिकारी श्री विनय कुमार सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button