FEATUREDउत्तर प्रदेशसोनभद्र

कबाड़ दुकान में RAILWAY के समान देख RPF के होश उड़े।

कबाड़ दुकान में आरपीएफ का छापा, रेलवे का फिश प्लेट समेत अन्य वस्तु बरामद।

अक्सर यह सुनने को मिल जाता है कि रेलवे के सामानों की चोरी नहीं होती और यदि कोई चोरी कर भी ले तो पता होने पर रेलवे उसे बरामद करने के लिए कुछ भी कर जाती है। सोनभद्र के एक कबाड़ दुकान संचालक ने रेलवे से चोरी किए गए सामानों को खरीदारी कर सारे मिथकों को तोड़ दिया। होली से पुरवा कई गाड़ियां रेलवे के सामानों को कबाड़ी ओने दूसरे शहरों में भरकर भेज दिया और होली के बाद हरकत में आई आरपीएफ को सिर्फ बचे अवशेष ही मिल रहे हैं। पूरी करवाई को आरपीएफ ने मीडिया की नजरों से बचाने का भरसक प्रयास किया और कुछ भी बताने से बचते रहे।

कबाड़ दुकान के बाहर खड़ी आरपीएफ की गाड़ी।

दुद्धी कोतवाली क्षेत्र में आज आरपीएफ के अचानक एक कबाड़ की दुकान पर छापेमारी से हड़कम्प मंच गया। होली से एक सप्ताह पूर्व दुद्धी रेलवे स्टेशन से विंढमगंज रेलवे स्टेशन के बीच रेलवे के सामानों की लगातर हो रही चोरी की घटना से आरपीएफ की नींद उड़ी हुई थी। छापेमारी में आरपीएफ को लगातार हो रही चोरी के सामान कबाड़ की दुकान से बरामद हुए। जिसे आरपीएफ अपने साथ ले गयी और कबाड़ के दुकान के मालिक को भी गिरफ्तार कर अपने साथ ले गयी। वहीं इस दौरान अधिकारियों ने मीडिया से दूरी बनाए हुए थी और कवरेज करने से रोक रही थी।

कबाड़ की दुकान से मिल रहे रेलवे के सामानों को देख आरपीएफ के होश उड़े-

कबाड़ दुकान से मिले रेलवे के समान।

प्राप्त जानकारी अनुसार आज दुद्धी कोतवाली क्षेत्र के एक कबाड़ की दुकान में पूर्व मध्य रेलवे (ECR) धनबाद मंडल (Dhanbad) द्वारा गठित सीआइबी (CIB) व चोपन आरपीएफ (RPF) की टीम लगातार हो रही रेलवे की चोरी को लेकर छापेमारी कर रही है। रेलवे धनबाद की सीआईबी टीम के साथ चोपन आरपीएफ की टीम लगातार इलाके में चोरी के वस्तुओं के बरामदगी को लेकर सुराग ढूंढ रही थी। इसी क्रम में जब कोतवाली क्षेत्र के डूमरडीहा में कथित तौर पर संचालित कबाड़ दुकान में औचक छापेमारी की तो टीम सन्न रह गयी। कबाड़ दुकान में छुपाए गए बोरियों में रखे रेलवे के फिश प्लेट, एंगल, ट्रैक जॉइंटर, रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर लगाई जाने वाली जालियों के लोहे की पट्टियों को छोटे छोटे टुकड़ों में बरामद किया।

मीडिया की नजरों से बचाना कुछ तो गड़बड़ झाला है-

चोपन आरपीएफ के इंस्पेक्टर उमाकांत यादव संग सब इंसेक्टर प्रशांत कुमार ने प्रकरण में माल के बरामदगी के साथ दुकान के संचालक धनन्जय कुशवाहा पुत्र निवासी रजखड़ को हिरासत में लेकर चोपन रवाना हो गयी। रेलवे महकमा में चल रहे चर्चाओं पर गौर करे तो उक्त दुकान से होली से पूर्व कई मोटर रेलवे का कबाड़ बड़े शहरों को भेज दी गयी, अब टीम को बचे खुचे अवशेष ही बरामद हो रहे हैं। वहीं आरपीएफ की टीम मीडिया से बहुत कुछ बताने से इनकार किया और कार्रवाई का भरोसा दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button