उत्तर प्रदेशधर्म/संस्कृतिसोनभद्र

एनटीपीसी सिंगरौली में कला एवं विज्ञान प्रदर्शनी एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन।

एनटीपीसी सिंगरौली द्वारा 10 मार्च से 16 मार्च तक आज़ादी का अमृत महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है, जिसके अंतर्गत सोमवार को बच्चों के सांस्कृतिक प्रतिभा का विकास एवं आमजन के मनोरंजन हेतु विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश वंदना से किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि एनटीपीसी मुख्य महाप्रबंधक बसुराज गोस्वामी द्वारा कला एवं विज्ञान प्रदर्शनी का उद्घाटन किया गया। प्रदर्शनी में आस-पास के स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा विभिन्न रचनात्मक मॉडल और पेंटिंग आदि का प्रदर्शन किया गया।

तदुपरान्त मुख्य अतिथि एवं गणमान्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन कर सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। बच्चों के सृजनात्मक और सांस्कृतिक कौशल को बढ़ाने के लिए एनटीपीसी सिंगरौली, रिहंद और विंध्याचल के बच्चों द्वारा मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत एनटीपीसी सिंगरौली के स्वागत गीत “सुस्वागतम” से हुई। तीनों परियोजनाओं के बच्चों द्वारा “लकड़ी की काठी”, “पेड़ बचाओ” और “गलती से गलती” जैसे सामाजिक और रचनात्मक विषयों पर विभिन्न नृत्य प्रदर्शन प्रस्तुत किए गए।

भारतीय लोक नृत्य, लोक संगीत के समृद्ध इतिहास को बढ़ावा देने के लिए तीनों स्टेशनों के बच्चों द्वारा विभिन्न नृत्य प्रस्तुत किए गए। एनटीपीसी शक्तिनगर के संत जोसेफ स्कूल द्वारा “तिरंगा मेरी शान” पर भव्य नृत्य नाटिका प्रस्तुत की गई।

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण एनटीपीसी की गौरवशाली यात्रा 1975-2002 पर नाट्य मंचन रहा, जिसे मनोज नायर के निर्देशन में शैडो ग्रुप, भोपाल द्वारा प्रस्तुत किया गया। प्रतिभाओं को बढ़ावा देने हेतु एनटीपीसी सिंगरौली के कर्मचारियों, श्रमिकों और स्थानीय समुदाय के लोगों को भी स्टेज पर अपनी कला प्रदर्शन करने का अवसर दिया गया, जिन्होंने मधुर गीत प्रदर्शन किया और दर्शकों का मनोरंजन किया। इसके अलावा मेले में मस्ती और उल्लासपूर्ण झूले, सेल्फी पॉइंट और स्वादिष्ट खाने के स्टॉल भी दर्शकों ने खूब पसंद किए।

कार्यक्रम में परियोजना प्रमुख एनटीपीसी सिंगरौली, विन्ध्याचल रिहंद की महिला मंडल की अध्यक्षा, शक्तिनगर थाना प्रभारी मिथलेश मिश्रा, आस-पास के ग्राम प्रधान, मीडिया प्रतिनिधि सहित अन्य गण्यमान्य अतिथि सम्मिलित हुए|

आज़ादी के अमृत महोत्सव के तहत मंगलवार को ख्यातिप्राप्त कवियों पद्मश्री डॉ सुरेन्द्र शर्मा एवं अन्य कवियों से सुसज्जित कवि सम्मेलन एवं बुधवार को सुप्रसिद्ध गायक कुणाल गांजावाला एवं टीम से सुज्जजित सांस्कृतिक संध्या का भव्य आयोजन प्रस्तावित है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button