अलीगढ़उत्तर प्रदेश

सरकार जनसभा में व्यस्त और यूक्रेन में दम तोड़ रहे छात्र।

यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र की मौत पर एएमयू छात्रों ने किया विरोध प्रदर्शन।

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध (Russia Ukraine war) के कारण यूक्रेन में बड़ी संख्या में भारतीय नागरिकों और छात्र फंसे हुए हैं। भारत सरकार द्वारा ऑपरेशन गंगा (Operation Ganga) के तहत अपने नागरिकों को सकुशल वतन वापसी के लिए अभियान चलाया जा रहा है और हजारों छात्रों व नागरिकों को एअरलिफ्ट कर भारत लाया जा चुका है। ऐसे में भारतीय छात्र की मौत की सूचना ने देश में छात्र संगठनों को विरोध प्रदर्शन करने का मौका दे दिया है।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (Aligarh Muslim University) में एमयू छात्रों ने यूक्रेन में भारतीय छात्र की मौत पर विरोध प्रदर्शन कर राष्ट्रपति (President) के नाम ज्ञापन सौंपा। एएमयू छात्रों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए कहा कि यूक्रेन रूस युद्ध में फसे हिंदुस्तानी छात्रों को सरकार अभी तक भारत नहीं ला पाई है क्योंकि वह जनसभाओं में लगे हुए हैं। उनको देश का भविष्य नहीं दिखता है।

एएमयू छात्रों ने मांग की है कि कर्नाटक (Karnataka) के छात्र नवीन की यूक्रेन रूस युद्ध में मौत हुई है लेकिन अभी तक उसका शव हिंदुस्तान नहीं आ पाया है, जल्द से जल्द शव को उसके परिवार को सुपुर्द किया जाए, साथ ही नवीन शेखर अप्पा के परिवार को मुआवजा दिया जाए और नवीन के परिवार में किसी एक को सरकारी नौकरी दी जाए। पोलैंड रोमानिया और कीव में फसे हिंदुस्तानी छात्र छात्राओं को जल्द से जल्द हिंदुस्तान लाया जाए।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बीच अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों का मोदी सरकार पर विरोध प्रदर्शन सुर्खियां बटोर रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button