FEATUREDभारतवर्ल्ड न्यूज़

रूस यूक्रेन की वार्ता बेनतीजा, बेलारूस में समाप्त हुई वार्ता : Russia Ukraine War

Talks in Belarus : Live : Ukraine Russia War

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध (Ukraine Russia War) ने अलग रूप ले लिया है और विश्व को तबाही के दरवाजे पर खड़ा कर दिया है। जिस प्रकार से यूरोपियन संघ यूक्रेन के पक्ष में बयान दे रहे हैं उसी से लड़ाई का स्वरूप बड़ा हो सकता है। रूस द्वारा यूक्रेन पर जारी एक के बाद एक हम लोग के बाद भी कीव राजधानी पर 4 दिन बाद भी कब्जा करने में रूस नाकाम रहा है और यूक्रेन के लड़ाके पिछले 4 दिनों से रूसी सेना को कीव राजधानी के बाहर रुके हुए है। इसी बीच यूक्रेन ने रूस को इंटरपोल से बाहर करने की मांग दोहराई है और यूक्रेन के राष्ट्रपति ओलोदिमिर जेलेंस्की ने देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा है कि अगले 24 घंटे यूक्रेन के लिए सबसे कठिन साबित हो सकते हैं। वही जी-7 के नेताओं ने यूक्रेन के विदेश मंत्री से वर्तमान हालात पर चर्चा की है और रूस के खिलाफ लड़ाई में सभी देश यूक्रेन का समर्थन जारी रखेंगे। ताजा ताजा प्राप्त जानकारी अनुसार रूसी हमलों में यूक्रेन के लगभग 352 आम नागरिकों की मौत हो चुकी है और इसमें 14 बच्चे भी शामिल हैं।

यूरोपीय संघ द्वारा दावा किया जा रहा है कि यूक्रेन में रूस पूरी तरह से गिर गया है। यूक्रेन द्वारा छोटा देश होने के बावजूद भी खुद को विश्व शक्ति मानने वाले रूस को 4 दिनों तक राजधानी के बाहर ओके रहने से रूसी राष्ट्रपति पुतिन बहुत गुस्से में है। इसी बीच यूरोपीय संघ ने ऐलान किया है कि वह उसी बीमारों को अपने हवाई क्षेत्र का प्रयोग करने नहीं देंगे और यूक्रेन को हथियार खरीदने के लिए आर्थिक मदद करेंगे।

यूक्रेन में हालात हर घंटे बद से बदतर होते जा रहे हैं और रूसी सेना यूक्रेन में अब तक करीब 50 फ़ीसदी घुस चुकी है। रूस द्वारा समय-समय पर भारी बमबारी की जा रही है और यूक्रेन भी पलटवार कर रहा है। अभी प्राप्त जानकारी अनुसार कुछ देर पहले रूस ने 3 बड़े बम धमाके यूक्रेन में किए हैं। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पश्चिमी देशों पर शत्रुता पूर्ण व्यवहार करने का आरोप लगाया है। यूरोपीय संघ (EU) के व्यवहार से नाराज पुतिन ने देश के रक्षा मंत्री और सेना प्रमुख को परमाणु सेना को तैयार रहने का आदेश जारी कर दिया है।

रूस (Russia) और यूक्रेन (Ukraine) के बीच बेलारूस (Belarus) में हुई बैठक समाप्त हो गई है और दोनों देशों का प्रतिनिधिमंडल अगली वार्ता पोलैंड बेलारूस सीमा पर आयोजित करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button