उत्तर प्रदेशसंभल

पुलिस ने निकलवाई दलित बिटिया की बारात।

पुलिस ने सम्भल में सराहनीय काम कर वाल्मीकि परिवार की बिटिया की बारात निकलवाई है।

उत्तर प्रदेश पुलिस मार समय-समय पर विभिन्न प्रकार के आरोप जनता लगाती रहती है। लेकिन कुछ आरोप दुर्भावना वर्ष बदनाम करने की नियति से लगाए जाते हैं। परंतु उत्तर प्रदेश पुलिस का स्लोगन है “वर्दी भी और हमदर्दी भी”, जिसे चरितार्थ करते हुए संभल पुलिस ने एक बाल्मीकि समाज की दलित बेटी की बारात को धूमधाम से अपनी देखरेख में निकलवाया और पूरी शादी तक पुलिस ने बरात के बीच सुरक्षा प्रदान की।

पूरा मामला जनपद सम्भल के थाना धनारी क्षेत्र के गांव मुढ़ैना का है जहां मुनेश वाल्मीकि कि बहन की बारात बुलंदशहर जनपद से आनी थी। मुनेश ने असमाजिक तत्वों द्वारा बारात में बबाल करने की आशंका जताई थी। बीती रात दलित बेटी की बारात इस गांव में पहुंची तो मौके पर भारी तादात में पुलिस मौजूद रही। पुलिस की मौजूदगी में बाराती जमकर नाचे और पुलिस ने बिटिया की बारात को निकलवा कर मिसाल पेश की है। यूपी में सभी बराबर हैं, सबको न्याय यूपी सरकार का मकसद है, इधर बारात निकलने के बाद मुनेश वाल्मीकि ने पुलिस का आभार जताया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button