Crime NewsFEATUREDउत्तर प्रदेशवाराणसीशिक्षा

BHU कैंपस में छात्रा के साथ छेड़खानी:आरोपी NCC हवलदार गिरफ्तार।

वाराणसी। कोरोना महामारी के तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच बंद हुआ बीएचयू कैंपस खुलते ही छेड़खानी के विवाद ने हड़कंप मचा दिया है। विधानसभा चुनाव के बीच महिला सुरक्षा की बात कर रहे योगी सरकार के लिए प्रधानमंत्री संसदीय क्षेत्र के शिक्षण संस्थान कैंपस में छेड़खानी के मुद्दे ने सरगर्मी बढ़ा दी है। काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) कैंपस में विद्यार्थियों की आवाजाही शुरू होने के साथ ही एक छात्रा के साथ छेड़खानी का मामला सामने आया है। आरोपी NCC की 28वीं बटालियन गर्ल्स के हवलदार मनोज कुमार को लंका थाने की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार को आरोपी को अदालत में पेश किया जाएगा। वहीं, इस घटना से विश्वविद्यालय के भारी-भरकम सुरक्षा तंत्र की निगरानी पर गंभीर सवाल खड़े हुए हैं तो कैंपस में छात्राओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान देने जैसी बातों की बहस को छेड़ दिया है।

बीएचयू कैंपस के बाहर रहने वाली बीए तृतीय वर्ष की छात्रा के अनुसार NCC का हवलदार मनोज कुमार ने शुक्रवार की रात उसे नरिया गेट पर कुछ जरूरी प्रश्नपत्र देने के लिए बुलाया था और बातचीत में उलझाकर मनोज उसे नवीन गर्ल्स हॉस्टल के समीप तक ले गया। गर्ल्स हॉस्टल के समीप सुनसान स्थान देखकर मनोज उसके साथ अश्लील हरकत करने लगा। छात्रा ने छेड़खानी का विरोध करते हुए शोर मचाया तो आरोपी हवलदार मनोज भाग निकला।

छात्रा का शोर सुनकर नवीन गर्ल्स हॉस्टल के पास मौजूद प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सुरक्षाकर्मियों ने आरोपी मनोज को दौड़ाकर पकड़ लिया। आरोपी मनोज को प्रॉक्टोरियल बोर्ड ऑफिस ले जाया गया और लंका थाने की पुलिस को सूचना दी गई। रात में ही पुलिस आरोपी मनोज को लंका थाने ले गई।

काशी जोन डीसीपी रामसेवक गौतम ने बताया कि बीएचयू प्रॉक्टोरियल बोर्ड की सूचना पर लंका थाने की पुलिस कैंपस में गई थी और आरोपी को पकड़ने के साथ ही पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया। छात्रा की तहरीर के आधार पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। छात्रा का मेडिकल मुआयना कराकर आरोपी को आज अदालत में पेश किया जाएगा। छात्रा के बयान और साक्ष्य के आधार पर आरोपी के खिलाफ प्रभावी तरीके से पैरवी कर उसे अदालत से कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी।

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र अंतर्गत काशी हिंदू विश्वविद्यालय से जुड़ा हुआ प्रकरण होने के कारण विपक्षी पार्टियों ने योगी सरकार पर महिला सुरक्षा को लेकर घेराबंदी शुरू कर दी है। वहीं पुलिस प्रशासन ने आनन-फानन में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर कड़ी से कड़ी सज़ा दिलाने की बात कही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button