उत्तर प्रदेशफिरोजाबादराजनीतिविधानसभा चुनाव

हाथ में कटोरा लेकर मांग रहा है वोट और नोट।

फिरोजाबाद। लोकतंत्र के महापर्व चुनाव के समय अक्सर प्रत्याशियों को स्वांग रचाते हुए आपने देखा होगा और हर किसी उम्मीदवार को लगता है कि यदि वह जीतता है तो भ्रष्टाचार खत्म करेगा। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के ऐलान होते ही वोट मांगने के अजब गजब खबरें सामने आने लगी है। फिरोजाबाद विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी अलग-अलग तरीके से चुनाव प्रचार कर रहे हैं। जिले की सदर सीट से मजदूर प्रत्याशी अपने आप को बेड़ियों में जकड़कर हाथ में कटोरा लेकर वोट के साथ नोट भी मांग रहा है। बेड़ियों में जकड़ा विधायक प्रत्याशी, जो पेशे से मजदूर है, चर्चा का विषय बना हुआ है।

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव कराने का ऐलान किया है। फिरोजाबाद में तीसरे चरण में मतदान होना है। ऐसे में प्रत्याशी अपनी तरफ वोटरों को लुभाने के अलग-अलग तरीके से प्रयास कर रहे हैं। वहीं, फिरोजाबाद सदर सीट से निर्दलीय प्रत्याशी रामदास मानव खुद को बेड़ियों में जकड़े हुए नजर आ रहे हैं। रामदास क्षेत्र में प्रचार के लिए विभिन्न मोहल्लों में जनसंपर्क कर रहे हैं। रामदास, चूड़ी जुड़ाई श्रमिकों के नेता हैं और इनका कहना है कि चूड़ी जुड़ाई मजदूरों का शोषण हो रहा है। चूड़ी जुड़ाई मजदूरों की हालत खराब है और मजदूरों के हालात ठीक करने को लेकर ही वह चुनाव में उतर पड़े हैं। उन्हें चुनाव चिन्ह भी चूड़ी ही मिला है। रामदास मानव अपने चुनाव चिन्ह चूड़ी का प्रचार करने के लिए लोगों के बीच जा रहे हैं।

प्रत्याशी रामदास का कहना है कि वह स्वयं एक मजदूर है, उनके पास इतना धन नहीं है कि वह चुनाव में भारी खर्च कर सके। इसलिए वह लोगों से वोट के साथ नोट की भी मांग कर रहे हैं। वह अपने साथ कटोरा लेकर चल रहे हैं जिससे लोगों से जन सहयोग चंदा एकत्रित कर चुनाव लड़ सकें। उनका कहना है कि कारखाने ने मजदूरों को इन बेड़ियों की तरह जकड़ रखा है। मजदूर आजाद हो इसलिए वह चुनावी मैदान में उतरे हैं। मजदूरों को यह बताने के लिए कि वह किस कदर बेड़ियों में जकड़े हुए हैं। उन्होंने खुद को भी हथकड़ी और बेड़ियों में जकड़ लिया है। उन्होंने कहा​ कि वह बेड़ियां उस समय उतारेंगे जब मजदूर इन बेड़ियों से आजाद होगा। जब भी रामदास मानव श्रमिकों के इलाकों में जा रहे हैं तो लोग इनको रुपये देकर मदद भी कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button