FEATUREDभोपालमध्यप्रदेशशिक्षा

फरवरी में तीसरी लहर के बीच खुल जाएंगे स्कूल?

भोपाल। पूरे देश में तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच ओमीक्रोन तेजी से पांव पसार रहा है और ऐसे में क्या लगाए जा रहे हैं कि फरवरी में तीसरी लहर आने की आशंका है। ‌ हर कोई फरवरी में स्कूल कॉलेज खोले जाने के सवाल का जवाब जानने के लिए बेचैन है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच में एक तरफ जहां प्रदेश सरकार की तरफ से स्कूलों को बंद कर दिया गया। वहीं दूसरी तरफ लगातार बढ़ते मामलों के बीच ही प्रदेश सरकार के द्वारा स्कूलों को बंद रखने की दी गई तारीख भी नजदीक आ रही है। इसके साथ ही बच्चों के अभिभावक लगातार इस बात को लेकर परेशान है कि स्कूल खुलेंगे या नहीं?

मध्य प्रदेश सरकार के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने बैतूल गणतंत्र दिवस समारोह में सम्मिलित होने पहुंचे थे और इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि 31 जनवरी या इसके ठीक बाद स्कूल खुल सकेंगे। वैश्विक महामारी कोविड-19 का प्रकोप दिनों दिन पूरे प्रदेश में बढ़ता जा रहा है। बैतूल जिले के प्रभारी मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि स्कूलों का संचालन कोरोना संक्रमण के प्रभाव को देखते हुए किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि कोरोना का प्रभाव इसी तरह से बढ़ता रहा तो स्कूल नहीं खोले जा सकते हैं। वहीं यदि कोरोना संक्रमण का प्रभाव कम हुआ तो स्कूल खोलने पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण को लेकर लगातार प्रदेश सरकार मानीटरिंग कर रही है। इसकी समीक्षा की जाएगी और जो भी स्थिति बनेगी उसके अनुसार निर्णय लिया जाएगा।

ऑनलाइन वर्चुअल शिक्षा को लेकर शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकारी स्कूल में संसाधनों की कमी होने के कारण ऑनलाइन एजुकेशन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई के लिए स्कूल बेहद जरूरी हो जाते हैं और प्रारंभिक शिक्षा की न्यू को मजबूत करने हेतु स्कूलों में प्रत्यक्ष पढ़ाई आवश्यक हो जाती है। लेकिन कोविड-19 बढ़ते मामलों को देखते हुए मजबूरी वश स्कूल कॉलेज बंद करने पड़ सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button