सिंगरौलीसोनभद्र

“समाज से भ्रष्टाचार मिटाने में आपकी भूमिका” विषयक सतर्कता गोष्ठी संपन्न।

सत्यनिष्ठा से आत्मनिर्भरता का संदेश देकर एनटीपीसी मना रही सतर्कता जागरूकता सप्ताह।

शक्तिनगर। सत्यनिष्ठा से आत्मनिर्भरता का संदेश देते हुए एनटीपीसी सिंगरौली में 26 अक्टूबर से 1 नवंबर तक सतर्कता जागरूकता सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में शनिवार को कर्मचारी विकास केंद्र में “भारत के विकास के लिए समाज से भ्रष्टाचार मिटाने में आपकी भूमिका” विषयक सतर्कता गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिस में उपस्थित विभिन्न विद्यालयों की के अध्यापकों व मीडिया बंधुओं ने अपने विचार साझा किए। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर एनटीपीसी वरिष्ठ सतर्कता अधिकारी नरेश बैठा उपस्थित रहे।

विवेकानंद विद्यालय के अध्यापक रमाकांत पांडे ने “काहे बोल ला बोलिया कठोर भईया” गीत सुना कर सबको भाव कर दिया और भ्रष्टाचार उन्मूलन की बात करते हुए निर्माणों की पावन भूमि पर वसुधा का कल्याण ना भूलें जैसे प्रेरक प्रसंग सुनाए। संत जोसेफ विद्यालय के अध्यापक योगेंद्र तिवारी ने “भ्रष्टाचार: नही कर्णीयम” संस्कृत गीत सुना कर भ्रष्टाचार रोकने के लिए प्रेरित किया। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय प्रोफेसर डॉ मानिक चंद पांडे व डॉ छोटेलाल ने जीवन में मूल्यों की स्थापना पर जोर देते हुए खुद को भ्रष्टाचार के खिलाफ खड़े रखने की बात कही।

संत जोसेफ विद्यालय से चंद्रशेखर जोशी व केंद्रीय विद्यालय से बृजेश यादव ने खुद में भ्रष्टाचार रोकने हेतु दृढ़ इच्छाशक्ति जगाए रखने पर जोर दिया और नई युवा पीढ़ी से उम्मीदें बरकरार रखी। अंबेडकर विद्यालय से प्रदीप कुमार व शीला सिंह ने “देश के जवान तुम देश को संवार दो” गीत सुना कर भ्रष्टाचार उन्मूलन का संदेश दिया।

मीडिया जगत से आए बंधुओं ने अपनी राय रखते हुए कहा कि भ्रष्टाचार रोकनेकने की शुरुआत खुद से स्थापित करें। आज हर व्यक्ति किसी न किसी रूप में भ्रष्टाचार का सहभागी है। सतर्कता सप्ताह में खुद से संकल्प लेते हुए निर्णय लेना होगा कि हम अपने जीवन में कभी भी भ्रष्टाचार व रिश्वतखोरी को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

एनटीपीसी आवासीय परिसर के विद्यालयों में भी सतर्कता के संदेश के प्रचार प्रसार हेतु विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से स्कूली बच्चों में नैतिकता, मेहनत व ईमानदारी जैसे गुणों का काश करने के उद्देश्य से कार्यक्रम आयोजित हुए। जिससे बच्चों में बचपन से ही भ्रष्टाचार उन्मूलन की दिशा में काम करने का बौध विकसित हो सके।

कार्यक्रम के अंत में एनटीपीसी वरीय सतर्कता अधिकारी द्वारा धन्यवाद ज्ञापित करते हुए सतर्कता गोष्ठी में उपस्थित सभी अतिथियों को उपहार भेंट कर सम्मानित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button