सोनभद्र

एनसीएल ओबी का कहर, नाऊटोला वासियों के जिंदगी में घोल रहा जहर।

ग्रामीणों की मांग जब तक समस्या का निस्तारण नहीं तब तक ना हो वारफाल का निर्माण।

शक्तिनगर। लगातार दो दिनों से हो रही बारिश ने रविवार की सुबह खड़िया ग्राम पंचायत के नाउ टोला बस्ती में कहर बरपाने का काम किया। तेज मूसलाधार बारिश ने एनसीएल खड़िया के दावों की पोल खोलते हुए ओबी पहाड़ के मलबे को पानी के साथ बस्ती में पहुंचा दिया। जिसके बाद बस्ती में अफरा-तफरी का माहौल दिखा और बस्ती में तेजी से भरते पानी को निकालने के प्रयास में ग्रामीण जुट गए। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि घनी आबादी के समीप वारफॉल निर्माण के कारण ओबी से बहकर आने वाले मलबे के निकलने का रास्ता अवरूद्ध हो गया है। जिसके कारण घनी आबादी में जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

नाऊ टोला में ओबी का मलबा युक्त पानी से उत्पन्न स्थिति।

बस्ती में ओबी का मलबा घुसने से गुस्साए ग्रामीणों ने वार फाल निर्माण के विरोध में नारे लगाते हुए खड़िया ग्राम प्रधान विजय गुप्ता उर्फ लालबाबू के घर अपनी आपबीती सुनाने पहुंचे। जहां ग्राम प्रधान ने एनसीएल खड़िया राजस्व अधिकारी राजाराम यादव से फोन पर वार्ता कर वारफाल निर्माण रोकने व जलजमाव की समस्या के निस्तारण कराने की बात कही।

खड़िया ग्राम प्रधान विजय गुप्ता उर्फ लालबाबू।

पूरे प्रकरण पर युवा नेता मुकेश सिंह ने कहा कि एनसीएल प्रबंधन द्वारा वारफाल निर्माण से नाउ टोला को होने वाली समस्या को नजरअंदाज करते हुए नियमों को ताक पर रखकर निर्माण कराया जा रहा है। एनसीएल प्रबंधन को ग्राम प्रधान व ग्रामीण प्रतिनिधियों के साथ वार्ता कर आगे बढ़ना चाहिए।

नाला जाम होने के कारण मुख्य मार्ग से बस्ती में प्रवेश करता पानी।

एनसीएल खड़िया प्रबंधन ने बताया कि मानसून के दिनों में वह भी से बहकर आने वाली मलबे के साथ पानी नाले के माध्यम से निकल जाता था लेकिन और औणी शक्तिनगर सड़क निर्माण करा रही कंपनी द्वारा नाउ टोला से गुजरने वाली नाले को पाटकर रोड निर्माण करने से सारी समस्या उत्पन्न हो रही है। वार फाल निर्माण नियमों के दायरे में किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button