सोनभद्र

नागरिकों से दुर्व्यवहार व सड़क निर्माण संबंध में जनता ने एनटीपीसी ऊर्जा द्वार समीप विरोध प्रदर्शन किया।

चिल्काडाँड़ ग्राम प्रधान व नागरिक मंच ने एनटीपीसी प्रबंधन को सौंपा ज्ञापन।

शक्तिनगर। क्षतिग्रस्त सड़क निर्माण, स्थानीय मुद्दों, एनटीपीसी कॉलोनी गेट नंबर चार खोलने और स्थानीय नागरिकों संग आवासीय परिसर गेट पर दुर्व्यवहार किए जाने के संबंध में चिल्काडाँड़ ग्राम प्रधान हीरालाल व नागरिक मंच संगठन द्वारा संयुक्त रुप से विरोध प्रदर्शन करते हुए एनटीपीसी कार्मिक अधिकारी पुरुषोत्तम लाल व टाउनशिप इंचार्ज सुदीप मन्ना को शक्तिनगर थाना प्रभारी निरीक्षक मिथिलेश कुमार मिश्रा की उपस्थिति में ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें मांग किया गया कि हेलमेट व सीट बेल्ट चेकिंग के नाम पर एनटीपीसी आवासीय परिसर गेट पर राहगीरों को परेशान कर दोहरी रवैया अपनाया जाता है, जिसे तत्काल बंद किया जाए और संडे मार्केट समीप क्षतिग्रस्त गुरुद्वारा मुख्य मार्ग व कोटा खड़िया मार्ग का जीर्णोद्धार व निर्माण कराया जाए। ऊर्जांचल में बड़ी संख्या में बच्चे राजकीय इंटरमीडिएट विद्यालय में पढ़ने आते हैं, जिन्हें गेट नंबर चार बंद होने से खासी मुसीबत का सामना उठाना पड़ रहा है, स्कूली बच्चों और नागरिकों को हो रही असुविधा को ध्यान में रखते हुए बंद गेटों को खोलने पर विचार किया जाए।

एनटीपीसी कार्मिक अधिकारी पुरुषोत्तम लाल ने बताया कि ग्राम प्रधान और ग्रामीणों की समस्या को ध्यान में रखते हुए गुरुद्वारा रोड पर बने गड्ढों को जल्द ही भरवा दिया जाएगा और एनटीपीसी परिसर के अंदर हेलमेट और सीट बेल्ट चेकिंग स्थानीय नागरिकों की सुरक्षा से संबंधित है। जिस पर स्थानीय प्रशासन और जनप्रतिनिधियों से बैठक कर निर्णय किया जाएगा।

ग्राम प्रधान हीरालाल ने कहा कि हेलमेट चेकिंग के नाम पर सिर्फ बाहरी लोगों को एनटीपीसी प्रबंधन परेशान कर रही है जबकि आवासीय परिसर में कोई चेकिंग नहीं होती है। एनटीपीसी प्रबंधन खुद को आरटीओ की भूमिका में दिखा रहा है, जिसका हम पुरजोर विरोध करते हैं। हमारी मांगों पर यदि प्रबंधन निर्णय नहीं लेता है तो आज का धरना सिर्फ ट्रेलर है और पूरी पिक्चर अभी बाकी है।

नागरिक मंच अध्यक्ष पन्नालाल ने कहा कि ऊर्जांचल में एनटीपीसी एकमात्र ऐसा संस्थान है जो स्थानीय नागरिकों व विस्थापितों को आवासीय परिसर में प्रवेश से रोक रहा है। एनटीपीसी अपनी कॉलोनी परिसर को चमकाने के लिए करोड़ों रुपए पानी की तरह बहा रहा है लेकिन अपने आसपास की सड़कों पर रत्ती भर भी ध्यान नहीं दे रहा है। जिससे सड़क पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं और सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे दुर्घटना का कारण बन रहे हैं। समूचे भारत में अनलॉक की प्रक्रिया बनाई जा रही है लेकिन एनटीपीसी प्रबंधन अभी भी कॉलोनी गेटो को बंद किया हुआ है जिससे स्कूली बच्चों व नागरिकों को खासी मुसीबत का सामना उठाना पड़ रहा है। यदि एनटीपीसी प्रबंधन हमारी मांगों को संज्ञान में नहीं लेता है तो हम सभी आंदोलन को बाध्य होंगे।

युवा नेता मुकेश सिंह ने कहा कि स्थानीय नागरिकों के साथ एनटीपीसी प्रबंधन सौतेला व्यवहार कर रही है। ऊर्जा द्वार के निकट मुख्य मार्ग पर लगभग तीन फीट के गड्ढे प्रबंधन की उदासीनता को दर्शाते हैं। मुकेश सिंह ने कार्मिक अधिकारी वी.शिवा प्रसाद को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि जबसे उन्होंने पदभार संभाला है तब से जनता और प्रबंधन के बीच टकराव बढ़ रहा है। जनता की समस्याओं से मुंह मोड़ कर कार्मिक अधिकारी द्वारा मनमाना फैसला थोपा जा रहा है।

विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से नंदलाल प्रधान, बीडीसी प्रतिनिधि रंजीत कुशवाहा, भोला सिंह, सोहेल खान, आनंद लाल, अयोध्या गुप्ता, मनोज गुप्ता, राजकुमार, कमल गुप्ता, जयप्रकाश सहित भारी संख्या में स्थानीय नागरिक उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button