कारोबारसोनभद्र

स्टार ओएंडएम कंपनी पर सैलरी में हिस्सा ना देने पर नौकरी से निकालने का लगा आरोप।

पैसा लेकर नौकरी देने, नोटिस बिना कार्य मुक्त व वेतन भुगतान में लेट लतीफी जैसे गंभीर आरोप मजदूरों ने लगाया।

शक्तिनगर। नॉर्दर्न कोलफील्ड लिमिटेड के अंतर्गत कृष्णशिला परियोजना खदान स्थित कोल हैंडलिंग प्लांट (सीएचपी) में संविदा पर कार्य कर रही स्टार ओएंडएम कंपनी पर श्रमिकों ने सैलरी में हिस्सा मांगने, पैसा लेकर नौकरी देने, बिना पूर्व सूचना के कार्यमुक्त करने, वेतन भुगतान में लेटलतीफी और पीएफ भुगतान न किए जाने जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए परियोजना महाप्रबंधक को बुधवार को ज्ञापन सौंपकर न्याय दिलाने की मांग किया है। श्रमिकों ने स्टार ओएंडएम कंपनी के अनियमितता की शिकायत पर लगाम कसने के लिए एनसीएल प्रबंध निदेशक से गुहार लगाते हुए ज्ञापन की प्रति कोल मंत्रालय व मानवाधिकार आयोग को प्रेषित किया है।

महीनों से कंपनी में कार्य कर रहे दो दर्जन से अधिक श्रमिकों को बिना किसी पूर्व नोटिस के कार्य मुक्त करने से संविदा कर्मियों में रोष व्याप्त है। राम सकल, अनुपम कुमार, राजेश कुमार, राज नारायण दुबे, विजेंद्र सिंह पवार, अंकुश कुमार, राजीव लोचन, संजय, संतोष कुमार आदि लोगों ने महाप्रबंधक को सौंपे पत्र में आरोप लगाते हुए कहा कि खाते में सैलरी एचपीसी के तहत डाला जाता है लेकिन कुछ श्रमिकों से सैलरी में हिस्सा मांगा जाता है।

स्टार ओएंडएम कंपनी और विवादों का चोली दामन का साथ है। जब से कंपनी ने एनसीएल परियोजनाओं के सीएचपी में संविदा पर कार्य करना प्रारंभ किया है तब से आए दिन मजदूरी भुगतान, मूल वेतन में कटौती, खदान सुरक्षा नियमों से खिलवाड़, श्रमिकों का शोषण जैसे गंभीर आरोप लगते रहते हैं। विगत दिनों खड़िया परियोजना अंतर्गत स्टार ओएंडएम कंपनी के श्रमिकों ने भी कंपनी के अनियमितताओं से आजिज होकर न्याय के लिए मुख्य महाप्रबंधक का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन सूत्रों की माने तो तब मजदूरों के दिए ज्ञापन पर हुई जांच पर्दे के पीछे दबी रह गई।

उक्त प्रकरण में जब स्टार ओएंडएम कंपनी के अधिकारी अभिषेक चक्रवर्ती से फ़ोन से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी बड़ी है और राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न परियोजनाओं में अपनी सेवाएं दे रही है। कृष्णशिला परियोजना से संबंधित मामले में हम कुछ भी बताने में असमर्थ है। किसी भी जानकारी के लिए स्थानीय अधिकारियों व एनसीएल जनसंपर्क अधिकारी से संपर्क कीजिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button