FEATUREDसोनभद्र

खड़िया कोटा बाईपास रोड पर सड़क में बने बड़े-बड़े गड्ढे, जल जमाव से तालाब जैसे हाल।

शक्तिनगर। सोनभद्र जिले के शक्तिनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत खड़िया बाजार से होते हुए कोटा को जाने वाली तकरीबन चार किलोमीटर की बाईपास रोड में लगभग तीन सौ मीटर हिस्से में सड़क पूरी तरह ख़स्ताहाल है और बड़े बड़े गड्ढों की भरमार है। बारिश के दिनों में इन गड्ढों में पानी भर जाने के कारण गड्ढे तालाब का रूप ले चुके हैं और इसमें आए दिन बाइक सवार गिरकर घायल हो रहे हैं व गड्ढ़े में पानी भरने के कारण अनुमान ना लगने से गाड़ियां फंसकर क्षतिग्रस्त हो रही है। ट्रक और हाईवा का इन गड्ढों में फंसने का आलम ऐसा है कि निकालने के लिए क्रेन बुलानी पड़ रही है।

गड्ढे में फंसी ट्रक को क्रेन से निकालने का प्रयास।

सड़क निर्माण नहीं हुआ तो करेंगे आंदोलन, बैठेंगे धरने पर :- ग्राम प्रधान विजय गुप्ता।

शक्तिनगर वाराणसी मुख्य मार्ग से खड़िया बाजार कोटा होते हुए एनटीपीसी प्लांट व सिंगरौली जिले को जोड़ने वाली मुख्य सड़क एनटीपीसी पावर प्लांट के अधीन है। खस्ताहाल सड़क की मरम्मत को लेकर स्थानीय रहवासियों ने आवाज उठाई तो पावर प्लांट द्वारा दो किलोमीटर की सड़क का मरम्मत करा दिया गया लेकिन असल मुसीबत जिस स्थान खड़िया बाजार में थी, वहां कोई निर्माण कार्य नहीं कराया जाना, समझ के परे है। खड़िया बाजार सड़क के पास बड़े-बड़े गड्ढों में बरसात का पानी भर जाने के कारण आसपास के रहवासियों पर मुसीबतों का पहाड़ टूट रहा है और सड़क पर आवाजाही दुश्वार हो गई है।

क्रेन से खींचकर ट्रक को निकालने का प्रयास।

खस्ताहाल सड़क के आसपास रह रहे ग्राम वासियों ने बताया कि समस्या से एनटीपीसी प्रबंधन को कई बार अवगत कराया गया लेकिन अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगता और लगातार सड़क धंसती जा रही है।

कोटा बस्ती बोट पॉइंट्स से तेलगवां बॉर्डर तक भी सड़क का हाल जस का तस है। खड़िया कोटा बाईपास रोड में सिर्फ बीच के दो किलोमीटर क्षेत्र में सड़क निर्माण कार्य पर सवाल उठना लाजमी है कि आखिर क्यों खड़िया बाजार व बोट प्वाइंट से तेलगवां जाने वाली सड़क को खस्ताहाल छोड़ा गया? शाम होते ही खड़िया बाजार में तालाब का आकार ले चुकी सड़क पर चलना जान हथेली पर लेकर चलने जैसा है। वहीं कोटा-तेलगवां रोड पर खस्ताहाल सड़क के कारण राहगीर आए दिन चोटिल हो रहे हैं।

खड़िया ग्राम प्रधान विजय गुप्ता उर्फ लालबाबू ने पूरे प्रकरण की जानकारी देते हुए एनटीपीसी अधिकारियों को चेताया कि जल्द से जल्द यदि सड़क का निर्माण नहीं किया जाता है तो ग्रामवासी आंदोलन करने को बाध्य होंगे। एनटीपीसी यदि निर्माण नहीं करा सकती है तो लिखित में दे की रोड उसके अधीन नहीं है। हम ग्रामवासी मिलकर सड़क निर्माण का प्रयास करेंगे।

एनटीपीसी शक्तिनगर जनसंपर्क अधिकारी आदेश पांडे ने कहा कि शेष बची सड़क निर्माण के संबंध में प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है और बहुत जल्दी सड़क निर्माण का कार्य प्रारंभ कराने का प्रयास किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button